जासं, महुली (सोनभद्र): दुद्धी विकास खंड के फूलवार गांव में स्थित घघिया बंधी की मरम्मत न होने से ग्रामीणों में आक्रोश है। इससे किसानों की खेती प्रभावित होने लगी है। दो साल बाद तक बंधी को न बनाया जाना ग्रामीणों की समझ से परे है। थके-हारे ग्रामीणों ने अब मुख्यमंत्री से मरम्मत की मांग की है।

दरअसल, विकास खंड की घघिया बंधी दो वर्ष पूर्व भारी बारिश के कारण टूट गई थी। बंधी के निर्माण के लिए ग्रामीणों ने कई बार तहसील दिवस के माध्यम से जिला प्रशासन को अवगत कराया। मौके पर विभाग के अधिकारी भी गए उसके बावजूद मरम्मत नहीं हुई। अब इससे ग्रामीणों में रोष व्याप्त है। सबसे बड़ी समस्या खेती के लिए उत्पन्न हो गई है। इस बंधी के समय पर निर्माण न होने से आसपास के ग्रामीणों, किसानों की खेती के लाले पड़ गये हैं। बरसात के पानी के बाद पूरे वर्ष तक पानी से लबालब रहने वाली बंधी आज अपने हाल पर रोना रो रही है। ग्रामीणों की मांग पर कई बार विभागीय आश्वासन मिले बावजूद काम नहीं होने से ¨चता हो गई है। बंधी के टूटने से आसपास के क्षेत्र का जल स्तर भी नीचे चला जाता है, जिससे गर्मी में पानी की काफी समस्या उत्पन्न हो जाती है। ग्रामीणों कहा कि बंधी के टूट जाने से खेती भगवान भरोसे हो गई है। ग्रामीण जितेन्द्र कुमार श्रीवास्तव, नन्दू श्रीवास्तव, दिनेश यादव, गुलाब चंद, कलिन श्रीवास्तव, ज्वाला प्रसाद ने मुख्यमंत्री से अतिशीघ्र बांध की मरम्मत की मांग की है।

Posted By: Jagran