जागरण संवाददाता, सोनभद्र : आजादी के 75 वर्ष पूरे होने पर अमृत महोत्सव मनाया जा रहा है। जिसके क्रम में सोनभद्र में 75 अमृत सरोवर का निर्माण किया जा रहा है। 60 सरोवर पर निर्माण कार्य शुरू भी हो गया है। इन सरोवरों के अंदर वर्ष पर्यंत पानी की उपलब्धता की जिम्मेदारी संबंधित ग्राम पंचायतों के कंधों पर होगी। इसके अलावा इनके रखरखाव पर भी विशेष प्रयास किए जाएंगे। यह सरोवर ग्राम पंचायत, क्षेत्र पंचायत व जिला पंचायत द्वारा पूरा कराया जाएगा। अमृत सरोवर के तट को हराभरा रखने के लिए नीम, पीपल, कटहल, जामुन, बरगद, सहजन, पाकड़ व महुआ जैसे पौधे लगाए जाएंगे, ताकि छाया के साथ फल भी प्राप्त हो सके। जल प्रवेश व निकासी पर विशेष ध्यान

अमृत सरोवर में गांव का गंदा पानी न जाए इसको लेकर सख्त निर्देश है। इसके अलावा सरोवर में वर्षा का जल पूरी तरह से आए इसको लेकर समुचित प्रबंध होंगे। तालाब में पानी अधिक होने पर उसके निकासी पर भी काम किया जाएगा। सरोवर में आने वाला पानी साफ हो इसके लिए प्रवेश द्वार पर सिल्ट चैंबर का निर्माण कराया जा रहा है। अमृत सरोवर के सौंदर्यीकरण कार्यों में शासकीय धन के उपयोग पर पूरी तरह से रोक रहेगी। यह कार्य जन सहयोग, सीएसआर मद आदि से किया जाएगा। ..

समय से पूरा होगा निर्माण कार्य

अमृत सरोवर का कार्य समय से चल रहा है। वर्तमान समय में 60 के आसपास सरोवर पर काम शुरू है। शासन के निर्धारित मानक के अनुरूप कार्य चल रहा है।

शेषनाथ चौहान, डीसी मनरेगा।

Edited By: Jagran