जागरण संवाददाता, सोनभद्र : केंद्र में जब दोबारा नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा की सरकार बनी तो चालीस दिन की लगातार सुनवाई के बाद अयोध्या मामले का फैसला आ गया। रामलला के मंदिर निर्माण के लिए ट्रस्ट भी बन गया है। काशी में बाबा विश्वनाथ मंदिर के निर्माण की दिशा में कदम बढ़े तभी सोनभद्र में इतना बड़ा स्वर्ण भंडार मिल गया कि जिले, यूपी ही नहीं बल्कि देश की गरीबी दूर करने का रास्ता मिल गया। ऐसी स्थिति में सोनभद्र जिला भी विकास में पीछे कैसे रहेगा। इसके विकास के लिए केंद्र व राज्य सरकार ने एक साथ कदम बढ़ाया है। यह बातें सूबे के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने शनिवार को घोरावल विधानसभा क्षेत्र के भगवास स्थित सरदार बल्लभ भाई पटेल इंटर कालेज में कहा। उन्होंने सरकार की उपलब्धियों को गिनाया और सपा, बसपा व कांग्रेस पर जुबानी हमला भी बोला। इससे पहले उन्होंने बटन दबाकर 61 करोड़ की विभिन्न परियोजनाओं का शिलान्यास व लोकार्पण किया।

कहा कि सोनभद्र अपने नाम के हिसाब से सार्थकता की ओर जा रहा है। ऐसे में निश्चित तौर पर मैं विश्वास दिलाता हूं कि मुख्यालय का नाम राब‌र्ट्सगंज की जगह अब सोनभद्र हो ही जाना चाहिए। इसका प्रस्ताव निश्चित तौर पर रखा जाएगा। यहां यूरेनियम का भी भंडार मिलने की संभावना है। ललिपुर में भी प्लेटिनम मिलने की संभावना है। ऐसा लग रहा है जैसे धरती मां अपने अंदर जो कुछ भी रखी थीं सबकुछ समर्पित कर रही हैं। आगे कहा कि जिले के विकास की ²ष्टि से एक बहुत बड़ी उपलब्धि है। केंद्र और प्रदेश सरकार दोनों ने मिलकर गरीबी के खिलाफ लड़ने का फैसला लिया है। हम गरीबी पर विजय प्राप्त करेंगे। गरीबों के लिए केंद्र व राज्य दोनों सरकारों ने खजाना खोल दिया है। उन्होंने सरकार की उपलब्धियों को गिनाते हुए हर घर पानी, किसान सम्मान निधि के बारे में बताया। कहा कि विकास के लिए देश के पिछड़े जनपदों की केंद्र सरकार ने सूची बनवाई। उसमें सोनभद्र भी शामिल है। उसे अगड़े जिले में शामिल करने के लिए केंद्र व राज्य सरकार मिलकर विकास कार्य कर रही है। इस मौके प्रभारी मंत्री डा. सतीश चंद्र द्विवेदी, काशी क्षेत्र के अध्यक्ष महेश चंद्र श्रीवास्तव आदि मौजूद थे। वादा निभाया, किसानों का कर्जा माफ किया

डिप्टी सीएम ने कहा कि हमने किसानों का भी सम्मान किया है। हमने वादा किया था कि सरकार में आए तो किसानों का कर्जा माफ करेंगे। जैसे ही सरकार बनी, किसानों का कर्जा माफ किया। 36 लाख करोड़ रुपये माफ किया किया। करीब 86 लाख किसानों का कर्जा माफ किया गया। एक लाख रुपये तक का कर्जा माफ हुआ। साथ ही हर किसान के खाते में तीन किस्तों में दो-दो हजार रुपये कुल छह हजार रुपये सम्मान निधि के तहत दिए जा रहे हैं। सपा, बसपा व कांग्रेस पर निशाना

अपने करीब आधे घंटे के संबोधन में उन्होंने सपा, बसपा व कांग्रेस पर भी निशाना साधा। कहा कि देश के अंदर राजनीतिक ²ष्टि से जो हमारे प्रतिद्वंद्वी हैं वे विकास कार्यों को देखकर परेशान हैं। हमें 2014 में जनता ने जिताया, 2017 में झोली भरी, 2019 में लोस चुनाव में दो बड़े राजनीतिक दल जो बारी-बारी से 15 साल तक यूपी सरकार में रहे यानी सपा व बसपा ने मिलकर तय कि मोदी को प्रधानमंत्री नहीं बनने देना है। चुनाव के पहले ही प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने के सपने देखने लगे। अब 2022 में मुख्यमंत्री की शपथ लेने का सपना देख रहे हैं। लेकिन उनका सपना पूरा होने वाला नहीं है। जनता भाजपा के साथ है। हम 2022 में भी विजय हासिल करेंगे। एमपी के सीएम माफी मांगे

डिप्टी सीएम ने सीएए पर विपक्षी दलों द्वारा किए जा रहे विरोध को लेकर भी बोला। कहा कि नागरिकता संसोधन कानून 2019 के तहत नागरिकता देने वाला कानून बना है। लेकिन विपक्षी दल के लोग इसका दुष्प्रचार कर रहे हैं। उनके पास कोई मुद्दा नहीं है इस लिए दुष्पप्रचारित कर रहे हैं। यहां की जनता जागरूक है। सबकुछ जानती है। कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक के बारे में अब भी मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ प्रमाण मांग रहे हैं। उन्होंने सेना के शौर्य का अनादर किया है। इस लिए माफी मांगनी चाहिए।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस