जागरण संवाददाता, सोनभद्र : महीने भर से अधिक समय तक प्रचार-प्रसार, अंतिम चरण में 19 मई को हुए मतदान के बाद अब 23 मई को राब‌र्ट्सगंज संसदीय क्षेत्र के 12 सूरमाओं के भाग्य का फैसला होगा। मतगणना से पहले किसके सिर ताज सजेगा, कौन कांटे की टक्कर देगा इसको लेकर तरह-तरह के कयास लगाए जा रहे हैं। कुछ ऐसे प्रत्याशी जिनको इस चुनावी महासमर में वोटकटवा कहा जा रहा था उनकी जमानत बचेगी या जब्त हो जाएगी। नोटा कितना दम दिखाएगा इसको भी लेकर चट्टी-चौराहों पर चर्चा तेज है। उधर, मतगणना को सकुशल संपन्न कराने के लिए तैयारी अंतिम दौर में है। मंगलवार को अधिकारियों ने मतगणना स्थल का निरीक्षण किया और तैयारियों का जायजा लेते हुए संबंधितों को जरूरी निर्देश दिया।

क्रमांक के हिसाब से उत्तर प्रदेश की अंतिम लोकसभा सीट राब‌र्ट्सगंज में कुल पांच विधानसभा क्षेत्र शामिल है। इसमें सोनभद्र जिले के चार विधानसभा क्षेत्र व चंदौली का चकिया विधानसभा क्षेत्र है। सभी विधानसभा में मिलाकर कुल 58.26 फीसद यानि करीब दस लाख मतदाताओं ने मताधिकार का प्रयोग किया है। ये मतदाता कुल 12 प्रत्याशियों व नोटा के पक्ष में मतदान किए हैं। इनके द्वारा दिए गए मतों की गणना राजकीय पालीटेक्निक कालेज लोढ़ी में होनी है। यहां प्रत्येक विधानसभा के लिए 14-14 टेबल लगाए जाएंगे। इसके अलावा दो-दो टेबल सहायक निर्वाचन अधिकारियों के होंगे। कुछ रिजर्व में रखे जाएंगे। यानि सभी विधानसभा के लिए कुल 76 टेबल लगाए जाएंगे। चकिया विधानसभा की मतगणना चंदौली जिले में होगी। वहां से चरणवार सूचना आएगी। अंतिम में होगी वीवीपैट के पर्ची का मिलान

मतगणना के दौरान सबसे पहले पोस्टल मत गिना जाएगा। इसके बाद ईवीएम के मतों की गणना होगी। विधानसभावार मतगणना के बाद अंतिम में पांच बूथों की वीवीपैट की पर्ची का ईवीएम में मिले वोट से मिलान कराया जाएगा। मिलान के बाद ही परिणाम की घोषणा होगी। इसके पहले चरणवार रूझान आते रहेंगे। मतगणना के कार्मिकों को दिया गया प्रशिक्षण

सोनभद्र : मतगणना कार्मिक भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार बेहतर तरीके से प्रशिक्षण प्राप्त कर लोकसभा सामान्य निर्वाचन 2019 की मतगणना बेहतरीन तरीके से संपन्न कराएं। मतगणना के दौरान मतगणना कार्मिक निष्पक्ष रहने के साथ ही अपने कार्य एवं आचरण से भी निष्पक्ष दिखें। यह निर्देश जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी अंकित कुमार अग्रवाल ने मंगलवार को कलेक्ट्रेट मीटिग हाल में मतगणना के निमित्त मतगणना कार्मिकों के प्रशिक्षण सभा को संबोधित करते हुए दिया। जिलाधिकारी ने मतगणना कार्मिकों को दायित्वबोध कराते हुए भारत निर्वाचन आयोग के दिशानिर्देशों से मतगणना कार्मिकों को अवगत कराया। कहा कि भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशों की बारीकियों को समझें और निष्पक्ष तरीके से मतगणना कराएं। प्रशिक्षण दो पालियों में संपन्न हुआ। प्रशिक्षण में जिला निर्वाचन अधिकारी के अलावा मुख्य विकास अधिकारी अजय कुमार द्विवेदी, उपजिला निर्वाचन अधिकारी योगेंद्र बहादुर सिंह, जिला विकास अधिकारी रामबाबू त्रिपाठी सहित मास्टर ट्रेनरों ने विस्तार से जानकारी दी। मतगणना से पहले बनवाएं पास

उपजिला निर्वाचन अधिकारी योगेंद्र बहादुर सिंह ने मतगणना के बारे में बताया कि मतगणना राजकीय पालीटेक्निक कालेज लोढ़ी में 23 मई को सुबह आठ बजे से होनी है। मतगणना परिसर में प्रत्याशी के एजेंट/अभिकर्ता के रूप में प्रवेश के लिए 23 मई के पहले जिला निर्वाचन कार्यालय से एजेंटों का पास बनवा लिया जाए। उन्होंने कहा कि जिला निर्वाचन कार्यालय में एजेंटों के पास बनाने का काम शुरू है। लिहाजा बिना किसी देर किये पास तत्परता के साथ बनवा लिया जाय।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran