जागरण संवाददाता, सोनभद्र : जिले में एक भी कोरोना पाजिटिव मरीज न मिलने के कारण लोगों को मिली छूट पर रविवार को ग्रहण लग गया। गुजरात से प्रवासी मजदूरों को लेकर जनपद में आई स्पेशल ट्रेन में चार संदिग्ध मरीजों में से बहराइच निवासी एक की रिपोर्ट पाजिटिव आने के बाद जिला प्रशासन सक्रिय हो गया है। जिलाधिकारी ने आनन-फानन में ग्रीन जोन होने के बाद मिले छूट को लेकर समीक्षा शुरू कर दी है। तत्काल कुछ छूट को कम करते हुए रोडवेज बसों के संचालन पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।

सोनांचल में लॉकडाउन के 47 वें दिन एक प्रवासी मजदूर के कोरोना पाजिटिव मिलते ही प्रशासन हरकत में आ गया है। इसके पूर्व जिले में एक भी कोरोना के मरीज न मिलने से प्रशासन की तरफ से लोगों को काफी छूट मिली थी। लेकिन एक कोरोना पाजिटिव केस मिलते ही प्रशासन की तरफ से सावधानी बरते हुए छह मई से जिले में शुरू हुए रोडवेज के 10 बसों के संचालन को तत्काल प्रभाव से रोक दिया गया है। जिले के ग्रीन जोन में होने से परिवहन निगम के बसों का संचालन शुरू कर दिया गया था। बसों के चलने से यात्रियों को काफी राहत मिल रही थी। रोडवेज बसें जिला मुख्यालय से सभी तीनों तहसीलों से जोड़ने के लिए रूट चार्ट तैयार कर 25 मार्च से घोषित लॉकडाउन के बाद जिले में रोडवेज बसों का संचालन छह मई से शुरू कर दिया गया था। सभी बसें शक्तिनगर, विढमगंज, दुद्धी, घोरावल, खलियारी, बीजपुर तक चलायी जा रही थी। एआरएम एके सिंह ने बताया कि जिले में एक प्रवासी मजदूर के कोरोना पाजिटिव मिलते ही जिलाधिकारी के निर्देश पर बसों का संचालन बंद कर दिया गया है। बसों के बंद होने से परेशान रहे यात्री

जिले में बहराइच निवासी प्रवासी मजदूर के कोरोना पाजिटिव मिलते ही जिला प्रशासन के निर्देश पर रोडवेज बसों का संचालन तत्काल प्रभाव से बंद कर देने से यात्रियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। कई यात्री अपने घर जाने के लिए रोडवेज परिसर में आकर बसों का इंतजार कर रहे थे। लेकिन परिवहन विभाग की तरफ से बसों के संचालन बंद होने की जानकारी मिलते वह काफी दिखाई दिए। एक-एक कर बसें भेजी जा रही झारखंड

जिले के क्वारंटाइन सेंटर में रखे गए मजदूरों को लेकर झारखंड जा रही रोडवेज बसों को वहां के प्रशासन की तरफ से एक साथ नहीं लिया जा रहा है। एआरएम एके सिंह ने बताया कि मजदूरों को लेकर जाने वाली बसों की संख्या अधिक होने पर झारखंड प्रशासन की तरफ से एक-एक करके बसों को लिया जा रहा है। साथ आए श्रमिकों पर है नजर

गुजरात से करीब 1200 प्रवासी मजदूरों को लेकर विशेष ट्रेन आठ मई को सोनभद्र रेलवे स्टेशन पर पहुंची थी। उसी में एक बहराइच निवासी मजदूर में कोरोना पाजिटिव मिलने से हड़कंप मच गया। उसे तत्काल जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड से मीरजापुर के लिए भेज दिया गया। साथ ही ऐसे लोगों को चिन्हित कर नजर रखी जा रही है जो उस मजदूर के साथ बोगी में बैठे थे।

Edited By: Jagran