जागरण संवाददाता, सोनभद्र : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बहुअरा स्थित प्राथमिक विद्यालय परिसर में बने मंच से बुधवार को सोनांचल के पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए सोन टूरिज्म की लां¨चग की। उन्होंने यहां के पर्यटक स्थलों की तारीफ करते हुए वेबसाइट व एप को लांच किया। कहा कि इससे यहां का पर्यटन अब वैश्विक पटल पर भी पहचाना जायेगा।

सात जुलाई को मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह समारोह में नव दंपती को आशीर्वाद देने आये मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंच से यहां के पर्यटन स्थलों की तारीफ की थी। पौराणिक मान्यताओं व रहस्यमयी पर्यटन स्थलों के विकास की संभावनाओं पर उन्होंने बोला था। इसके साथ ही पर्यटन स्थलों के विकास के लिए दैनिक जागरण ने 21 से 27 अगस्त विशेष समाचारीय अभियान चलाया था। अपने इस अभियान के जरिए जागरण ने जिले के तमाम पर्यटक स्थलों के इतिहास, उनके महत्व और वहां पर्यटन की संभावनाओं के बारे में विस्तार से बताया था। साथ ही जिला प्रशासन के अधिकारियों पर खबरों के माध्यम से दबाव बनाकर पर्यटन के क्षेत्र के कार्य करने के लिए प्रेरित किया था। इसी दौरान जिला प्रशासन ने विहंगम सोन ट्रस्ट की स्थापना की और उसके माध्यम से होर्डिग बैनर आदि बनवाकर विभिन्न सार्वजनिक स्थलों पर लगवाया। अब सीएम द्वारा लांच किये गये सोन टूरिज्म से पर्यटन को और अधिक बढ़ावा मिलेगा। वेबसाइट से लोग एक क्लिक में यह जान सकेंगे कि सोनभद्र में क्या-क्या खास है, कहां से उक्त पर्यटन स्थल पर पहुंचना है इसका विस्तृत उल्लेख है। क्या-क्या हुआ है पर्यटन के लिए

पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए विहंगम सोन ट्रस्ट की स्थापना की गई है। इसके ट्रस्टी जिलाधिकारी हैं। साथ ही जिले के प्रमुख औद्योगिक प्रतिष्ठानों के सीएसआर हेड भी इसके सदस्य हैं। इस ट्रस्ट का उद्देश्य है कि जिले प्रमुख भ्रमण स्थल के रूप में राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान स्थापित करना है। जिला प्रशासन के मुताबिक सोन टूरिज्म के तहत पर्यटन की वेबसाइट बनी है। पर्यटन की अल्प अवधि की मूवी का निर्माण कराया गया है। सोशल मीडिया के अलावा होर्डिंग, बैनर, ब्रोसर, पंपलेट एवं एफएम रेडियो के माध्मय से प्रचार-प्रसार, सोन इको प्वाइंट एवं मुक्खाफाल जैसे पर्यटन स्थल का सुंदरीकरण कराकर उसको अच्छे पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करना है।

Posted By: Jagran