जासं, अनपरा (सोनभद्र) : अनपरा अ परियोजना की 210 मेगावाट क्षमता वाली पहली इकाई से गुरुवार की शाम विद्युत उत्पादन ठप हो गया। इस इकाई के मोटर में तकनीकी खराबी आने से इकाई को बंद किया गया है।

प्रबंधन द्वारा इकाई को उत्पादनरत करने के लिए युद्ध स्तर पर कार्य किया जा रहा है। गुरुवार की देर रात तक इस इकाई को लाइटअप किए जाने की संभावना व्यक्त की जा रही है। प्रदेश में बढ़ती हुई गलनभरी ठंड की वजह से बिजली की मांग में भी गत सप्ताह से निरंतर वृद्धि कायम है। गुरुवार को प्रदेश में बिजली की अधिकत्तम मांग 19398 मेगावाट तथा न्यूनतम मांग 10686 मेगावाट के आसपास बना रहा। बिजली की बढ़ती हुई मांग को देखते हुए अनपरा परियोजना की सभी इकाइयों को मांग के अनुरूप फुल लोड पर संचालित किया जा रहा है। जिससे निगम का उत्पादन गुरुवार को 3260 मेगावाट के उपर बना रहा। बढ़ती हुई ठंड को देखते हुए बिजली की मांग 20 हजार मेगावाट के पार जाने की संभावना व्यक्त की जा रही है। अनपरा अ से 327 मेगावाट, ब परियोजना से 909 मेगावाट तथा डी परियोजना से 954 मेगावाट बिजली गुरुवार को पीसीएल को दी गई।

Edited By: Jagran