चोपन, जागरण संवाददाता। चोपन नगर में प्रदेश सरकार द्वारा महत्वाकांक्षी योजना बच्चों को तकनीकी शिक्षा में योग्य बनाने के लिए राजकीय पॉलिटेक्निक कॉलेज की स्थापना सिंदुरिया गांव में किया गया है। पॉलिटेक्निक कॉलेज में अध्ययन का भी कार्य लगातार जारी है। किंतु बिल्डिंग निर्माण में कार्यदायी संस्था द्वारा मानकों का बिल्कुल ध्यान नहीं रखा गया।

लिहाजा अब भी कॉलेज में सुरक्षा के इंतजाम ठीक नहीं हैं। विद्यालय में अग्नि सुरक्षा के कोई उपाय नहीं है। न ही विद्यालय में अंडरग्राउंड स्ट्रीट लाइट ही लगाई गई है। फर्नीचर के अभाव में बच्चे किसी तरह पढ़ने को मजबूर हैं। विद्यालय को आज भी संपर्क मार्ग नहीं मिल पाया है। करीब चार किमी की दूरी कीचड़ युक्त रास्ते से जाने के लिए छात्र-छात्राएं, अध्यापक अध्यापिकाएं, अभिभावक विवश हैं।

500 से ज्यादा बच्चे हर साल लेते हैं एडमिशन

विगत दिनों क्षेत्रीय विधायक और समाज कल्याण राज्यमंत्री संजीव सिंह गोड़ ने इस कच्चे मार्ग के नाले पर पुलिया का निर्माण तो जरूर करवाया, लेकिन मानक के अनुसार कार्य नहीं हुआ। राजकीय पॉलिटेक्निक कॉलेज सिंदुरिया में तकरीबन 500 से ऊपर बच्चे प्रतिवर्ष नामांकन पाते हैं और पूरे तीन वर्षों तक व्यवस्था को कोसते किसी तरह अपनी पढ़ाई करते हैं।

रास्ता न होने के कारण उपयोगिता न के बराबर

इस संबंध में समाज कल्याण राज्यमंत्री संजीव गोड ने बताया कि मेरे संज्ञान में पूरा प्रकरण है। उक्त मार्ग में कुछ किसानों की भूमि है, इसीलिए रास्ते का निर्माण नही हो पाया है। बावजूद समस्या रास्ते का है और उसका समाधान होना ही चाहिए। उन्होंने बताया कि इसी मार्ग पर विधायक निधि से पुलिया का निर्माण भी मेरे द्वारा कराया गया है, लेकिन रास्ता नहीं होने से उसकी उपयोगिता भी न के बराबर है।

Edited By: julfequar haider khan

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट