अब पांच साल तक के बच्चों को भी मिल सकती है बर्थ

जागरण संवाददाता, सोनभद्र : रेलवे ने बच्चों के लिए राहत भरी व्यवस्था दी है। अब उनके नाम पर भी बर्थ बुक हो सकती है। अब भी पांच वर्ष तक के बच्चे अपने स्वजन के साथ ट्रेनों में मुफ्त यात्रा कर सकते हैं। बर्थ या सीट नहीं लेने पर बच्चे पहले की भांति मुफ्त यात्रा के अधिकारी रहेंगे। अब तक एसी व शयनयान डिब्बे में स्वजन अपने पांच वर्ष तक के बच्चों को अपनी बर्थ पर सुलाते रहे हैं, लेकिन जब वातानुकूलित कुर्सीयान या कुर्सीयान कोच में छोटे बच्चों के लिए सीट नहीं होने से स्वजन को गोद में लेकर यात्रा करनी होती है। इससे स्वजन को यात्रा के दौरान काफी परेशानी होती थी, अब यह समस्या दूर हो चुकी है। स्वजन किसी भी ट्रेन में सफर के लिए छोटे बच्चों के लिए भी बर्थ या सीट बुक करा सकेंगे। इसके लिए निर्धारित किराया देना होगा।

उत्तर मध्य रेलवे प्रयागराज जोन के वरिष्ठ जनसंपर्क अधिकारी अमित मालवीय ने बताया कि भारतीय रेलवे ने ट्रेन में यात्रा करने वाले बच्चों के लिए टिकटों की बुकिंग के संबंध में कोई बदलाव नहीं किया गया है। यात्रियों की मांग पर उन्हें टिकट खरीदने और अपने पांच साल से कम उम्र के बच्चे के लिए बर्थ बुक करने का विकल्प दिया गया है, अगर वह अलग बर्थ नहीं चाहते हैं, तो यह सुविधा निश्शुल्क है, जैसे पहले हुआ करती थी।

रेल मंत्रालय की ओर से मार्च में जारी एक परिपत्र में कहा गया है कि पांच साल से कम उम्र के बच्चों को मुफ्त में ले जाया जाएगा। हालांकि, अलग बर्थ या सीट (कुर्सी कार) नहीं दी जाएगी। इसलिए किसी भी टिकट की खरीद की आवश्यकता नहीं है, बशर्ते अलग बर्थ की मांग नहीं की जाए।

Edited By: Jagran