जागरण संवाददाता, ज्ञानपुर (भदोही) : पहले जाम, फिर खतरनाक गड्ढे अब खोदकर छोड़ी लेन में जम चुका बारिश के पानी से निकल रही भीषण दुर्गंध से राहगीरों समेत राजमार्ग किनारे गुजर-बसर करने वालों की दुश्वारियां बढ़ती ही जा रही हैं। गत सप्ताह से ठप हुई बरसात के बाद निकल रही तेज धूप ने जहां मौसमी बीमारियों में इजाफा कर पानी से भरी लेन से निकल रही दुर्गंध संक्रमित बीमारियों का दंश झेलने के लिए लोगों को विवश करती जा रही है। देखा जाय तो कुछेक लोगों को छोड़कर अधिकाधिक लोग मलेरिया, टायफाइड जैसी घातक बीमारियों की जद में आकर अस्पतालों की ओर रुख कर लिए हैं।

अवगत हो कि राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या दो के राजातालाब-हंडिया खंड पर चल रहे सिक्सलेन निर्माण के बाबत दोनों लेनों के किनारे नाला व चौड़ीकरण करण के लिए खोदाई तो करा दिया गया तब तक शुरू हुई बरसात ने करे-धरे पर पानी फेर दिया। लोग पानी से भरी लेन को पार करने में मशक्कत करते फिर रहे हैं। कई बार चक्रमण कर रहे एनएचएआई के अधिकारियों-कर्मचारियों पानी निकलवाने की गुहार लगाई लेकिन समस्या को बरकरार रखने में अधिकारी अपनी महत्ता समझ रहे हैं। यही स्थिति अधूरे पड़े नालों की बनी हुई हैं जो गंदे पानी से ओवरफ्लो होकर सड़ांध पैदा कर रहे हैं। यदि प्राधिकरण ने इस पर अविलंब ध्यान न दिया और ब्ली¨चग आदि का छिड़काव न कराया जा सका तो स्थिति और भयावह हो जाएगी। स्थानीय लोगों और राहगीरों ने प्राधिकरण से त्वरित कार्रवाई की मांग की है।

Posted By: Jagran