जागरण संवाददाता, बीजपुर (सोनभद्र) : म्योरपुर ब्लाक के ग्राम पंचायत महरी कला के राशन कार्ड धारकों का राशन व मिट्टी तेल वितरण भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ने के कगार पर है। जिलाधिकारी को ग्रामीणों द्वारा लिखित शिकायत के बाद जुलाई माह में जिलाधिकारी ने एक टीम बनाकर शिकायत की जांच कराई थी। जांच के दौरान 17 अंत्योदय व 160 पात्र गृहस्थी कार्डधारक ऐसे पाये गये जिन्हें वर्षों से राशन नहीं मिला था।

पूर्ति निरीक्षक ने ग्रामीणों को आश्वासन दिया की कोटेदार का दुकान निरस्त करते हुए ग्रामीणों को राशन व मिट्टी तेल अन्य दुकान में संबद्ध कर वितरण किया जायेगा, लेकिन पूर्ति निरीक्षक ने सितंबर माह का राशन उक्त कोटेदार से उठवा दिया और वितरण कराया। सितंबर माह में भी कार्डधारकों को राशन सुचारु रूप से नहीं मिला। फिर ग्रामीणों ने जिलाधिकारी के पास न्याय की गुहार लगायी, फिर 24 अगस्त को पूर्ति निरीक्षक राब‌र्ट्सगंज रामलाल की अगुवाई में महरी कला कोटेदार का जांच किया। इसके बाद ग्रामीणों ने क्षेत्रीय विधायक हरिराम चेरो से शिकायत की तो विधायक ने नौ सितंबर को महरी कला गांव में आकर निरीक्षण किया और कोटेदार को दोषी पाया, लेकिन इसके बाद भी सम्बंधित अधिकारी कार्रवाई करने को तैयार नहीं हैं। इतनी जांच के बाद भी उक्त कोटेदार पर कार्रवाई न करने से महरी कला गांव के गरीबों का राशन व मिट्टी तेल भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ जा रहा है। ऐसे में शासन, प्रशासन के प्रति महरी कला गांव के ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त है।

Posted By: Jagran