जासं, दुद्धी (सोनभद्र) : तहसील मुख्यालय व आसपास के क्षेत्रों में गुरुवार को अनंत चतुर्दशी के अवसर पर भगवान विष्णु की लोगों ने सविधिक पूजन कर धन्य-धान्य होने की मंगल कामना की। इसके लिए अल सुबह से ही लोग पूजन स्थल की साफ-सफाई कर पुरोहित का जगह-जगह इंतजार करते रहे। इस दौरान समूचे क्षेत्र में चहल पहल देखने को मिली।

भाद्र शुक्ल पक्ष चतुर्दशी तिथि को अनंत चतुर्दशी भी कहा जाता है। इस दिन लोग भगवान विष्णु की पूजा अनंत स्वरूप में करते हैं। इसी निमित्त गुरुवार सुबह से मंदिरों में काफी भीड़ व चहल पहल देखने को मिला। मां काली, राधाकृष्ण, गुरुद्वारा शिवाला मंदिर, प्राचीन हनुमानजी, श्रीसंकटमोचन, पंचदेव, शिवाजी तालाब, रामनगर शिव मंदिर, नरसिंह, डीहवार बाबा मंदिर, डीसीएफ के शिव मंदिर के अलावा अन्य निजी एवं सार्वजनिक स्थानों पूजन अर्चन हुआ।

गाजे-बाजे के साथ गणेश प्रतिमा का विसर्जन

जासं, शक्तिनगर (सोनभद्र) : अनंत चतुर्दशी पर्व पर गुरुवार को बलिया नाला के गणेशनगर पूजा पंडाल में स्थापित गणेश प्रतिमा का विसर्जन गाजे-बाजे के साथ किया गया। बलिया नाला में परंपरानुसार गणेश चतुर्थी के दिन गणेश पूजा पंडाल में भगवान गणपति की प्रतिमा धार्मिक विधि-विधान से स्थापित की गयी थी। ग्यारह दिनों तक पूजा पंडाल में विविध प्रकार के धार्मिक व सांस्कृतिक आयोजनों के साथ भगवान गणपति की पूजा व आरती होती रही। पूजा पंडाल में एनटीपीसी, एनसीएल परियोजना के आवासीय परिसर सहित ग्रामीण एवं नगरीय क्षेत्रों के श्रद्धालु पूजा पंडाल में विधि-विधान से पूजन-अर्चन करते रहे। अनंत चतुर्दशी के दिन विधि-विधान से गणेश प्रतिमा का गाजे-बाजे के साथ जुलूस निकाल कर रिहंद जलाशय में विसर्जन किया गया। प्रतिमा विसर्जन देखने तथा प्रसाद लेने के लिए लोग जगह-जगह सड़क के किनारे खड़े रहे। विसर्जन के दौरान स्थानीय पुलिस मुस्तैद रही।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप