जासं, रेणुकूट (सोनभद्र): स्थानीय नगर व आसपास के क्षेत्र में अघोषित बिजली कटौती से उपभोक्ताओं में आक्रोश है। उपभोक्ताओं का कहना है कि जब ठंड के दिनों में बिजली आंख मिचौली करे तो इसे बिजली विभाग की लापरवाही ही कहा जाएगा।

व्यापार मंडल के अध्यक्ष अजय राय ने मुख्यमंत्री को पत्र भेजकर विद्युत कटौती की जांच की मांग है। रेणुकूट फीडर को आपूर्ति करने वाली 132/ 33/11 केवी ट्रांसफार्मर को रिहंद उत्पादन निगम खंड के कंट्रोल रूम से आए दिन बिना सूचना के बाद बंद कर दिया जाता है। जिस कारण नगर परिक्षेत्र की बिजली कई घंटे तक गुल हो जा रही है। भीषण ठंड में बिना रोस्टर के विद्युत कटौती आम लोगों के लिए परेशानी का सबब बन गई है। बताया गया कि विद्युत उत्पादन खंड के अवर अभियंता की मनमानी से नगर में अघोषित विद्युत कटौती की जा रही है। जबकि इसी से सटे पिपरी नगर पंचायत में 24 घंटे विद्युत आपूर्ति की जा रही है। विभागीय लोगों के अनुसार एसएलडीसी सारनाथ से स्पष्ट निर्देश है कि सभी नगर पंचायतों में समान रोस्ट¨रग प्रणाली लागू की जाए। इस बारे में विद्युत वितरण खंड पिपरी के अवर अभियंता ज्ञानेंद्र ¨सह उत्पादन निगम के अवर अभियंता की कार्यप्रणाली से हैरानी जताते हुए कहते हैं कि सारनाथ कार्यालय से सभी स्थानों पर रोस्ट¨रग की समान व्यवस्था लागू की गई है। जनपद के प्रत्येक नगर पंचायतों में नियमित कटौती का समय निर्धारित है।कहीं भी कम या ज्यादा कटौती नियम विरूद्ध है। कहा कि हमारे परिक्षेत्र के विद्युत लाइन में कोई गड़बड़ी नही है। बिना सूचना के कटौती को लेकर उच्चाधिकारियों को अवगत कराकर व्यवस्था में सुधार कराया जाएगा।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप