जासं, अनपरा (सोनभद्र) : राज्य विद्युत परिषद जूनियर इंजीनियर्स संगठन ने सरकारी कर्मचारियों के जीविकोपार्जन का मूल आधार महंगाई, राहत एवं अन्य भत्तों को रोके जाने को लेकर नाराजगी जाहिर की है। संगठन के केंद्रीय महासचिव जय प्रकाश ने कहा कि  इस संकट से जंग लड़ने, पीड़ितों को दिन-रात बेहतर इलाज उपलब्ध कराने, कानून व्यवस्था बनाए रखने, निर्बाध विद्युत आपूर्ति बनाए रखने जैसी विभिन्न चुनौतियों को स्वीकार कर सरकारी कर्मी अनवरत सेवा दे रहे हैं।

देश में आपात संकट को देखते हुए सरकारी कार्मियों ने अपने एक दिन का वेतन स्वेच्छा से पीएम केयर्स व मुख्यमंत्री पीड़ित राहत कोष में दान दिया। ऐसे हालात में सरकारी सेवकों का उत्साहवर्धन किए जाने की जगह सरकार द्वारा कर्मियों की सहमति बगैर उनके जीविकोपार्जन का मूल आधार महंगाई, राहत भत्ता एवं अन्य भत्तों को रोके जाने के लिए वित्त विभाग द्वारा आदेश जारी कर दिया गया। जिससे सभी में घोर निराशा व्याप्त है। संगठन के केंद्रीय अध्यक्ष जीबी पटेल एवं महासचिव ने कहा कि सरकार को इस आदेश को तत्काल वापस लिये जाने के लिए पत्र प्रेषित किया गया है।  

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस