जागरण संवाददाता, सोनभद्र: सोमवार को धान खरीद में अनियमितता के विरोध में किसानों ने प्रदर्शन किया। इस दौरान शासन-प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई।

खाद्य विपणन विभाग के सभी केंद्रों पर पिछले तीन दिनों से खरीद बंद थी। सोमवार को जैसे ही खरीद शुरू हुई केंद्र पर लगे किसानों का धान न खरीद कर बाहर की खरीद शुरू हो गई। इससे आक्रोशित किसानों ने प्रदर्शन शुरू कर दिया। किसानों ने आरोप लगाया कि केंद्रों पर बिना नंबर के खरीद की जा रही है। इससे कई दिनों से अपनी बारी का इंतजार कर रहे किसानों को काफी निराशा हो रही है। किसानों ने इस मामले की जानकारी पूर्वांचल नव निर्माण मंच के अध्यक्ष श्रीकांत तिवारी व उपाध्यक्ष गिरीश पांडेय को दी। दोनों किसान नेता मंडी पहुंचे तो किसानों ने उन्हें बताया कि 14 और 15 जनवरी को मकर संक्रांति पर खरीद बंद थी जबकि पोर्टल पर खरीद दिखाया गया है। बिना नंबर की खरीद की जा रही है।

ओड़वली के किसान दीपक कुमार 26 दिसंबर से केंद्र पर हैं लेकिन इनका धान नही खरीदा जा सका। इसी प्रकार किसान रामचंद्र पटेल, आदर्श पटेल ने 40 से 50 रुपये अधिक पल्लेदारी लेने की बात कही। सुनील सिंह, अजय गुप्ता, राधेश्याम, प्रेमप्रकाश, अनुज, चंद्रभान, सुरेश, सुनील पटेल ने खरीद में धांधली के प्रति गहरी नाराजगी व्यक्त की है।

श्रीकांत तिवारी ने कहा कि डीएम व खाद्य विपणन अधिकारी से मिलकर 14 और 15 जनवरी के खरीद की जांच कराई जाएगी। बिचौलिए धान खरीद में पूर्ण रूप से हावी हैं, किसानों को उपेक्षित किया जा रहा है। किसान नेता गिरीश पांडेय ने कहा कि सुचारू रुप से खरीद सुनिश्चित कराने के लिए जिम्मेदार लोगों से वार्ता की जाएगी। किसान कलेक्ट्रेट का घेराव करेंगे। इस मौके पर रमाकांत त्रिपाठी, भूषन पटेल, शिवपूजन, भरत सिंह आदि मौजूद रहे।

Edited By: Jagran