जागरण संवाददाता, सोनभद्र : आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत जनपद के शत-प्रतिशत लाभार्थियों को आच्छादित करने के लिए गोल्डन कार्ड बनाने की समय सीमा बढ़ा दी गई है। नवंबर, 2019 तक योजना से आच्छादित सभी परिवारों का गोल्डन कार्ड बनाया जाए। प्रमुख सचिव चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण ने मुख्य चिकित्साधिकारी को पत्र जारी कर यह निर्देश दिए हैं।

दरअसल, समीक्षा में यह स्पष्ट हुआ है कि कई ऐसे गांव हैं, जहां एक भी लाभार्थी परिवार का गोल्डन कार्ड अभी तक नहीं बना है। कई गांव में ऐसे परिवार हैं, जिनमें किसी भी सदस्य के पास गोल्डन कार्ड नहीं है। इसे लेकर शासन भी सजग है। इसके तहत माइक्रो प्लान बनाते हुए समस्त गांव और वार्ड में शिविर लगाया जाएगा और नवंबर 2019 के अंत तक लक्षित परिवारों में कम से कम एक सदस्य का गोल्डन कार्ड बनाया जाएगा। जिले में चयनित 1,72,583 परिवारों के सापेक्ष अब तक 1,36,320 लोगों का गोल्डन कार्ड बनाया जा चुका है और इस योजना के तहत 2256 लोगों का इलाज भी किया गया है। ---------------------

जनपद में योजना के लाभार्थियों का गोल्डन कार्ड बनाने का कार्य युद्ध स्तर पर है। गोल्डन कार्ड बनाने के लिए जिले के सभी स्वास्थ्य केंद्रों के अलावा गांव में शिविर लगाया जा रहा है। इसके अलावा आशाओं द्वारा भी गांव में घर-घर जाकर गोल्डन कार्ड वितरित किया जा रहा है।

- डा. एसपी सिंह, मुख्य चिकित्साधिकारी, सोनभद्र।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस