जागरण संवाददाता, ओबरा (सोनभद्र) : शुक्रवार को राष्ट्रीय सेवायोजना की दोनों इकाइयों के द्वितीय एक दिवसीय शिविर का आयोजन किया गया। जिसमें 100 छात्र व 100 छात्राओं ने भाग लिया। स्वयंसेवी छात्र-छात्राओं ने राष्ट्रीय युवा दिवस के अवसर पर महाविद्यालय परिसर स्थित स्वामी विवेकानंद के जन्मदिवस को उत्साहपूर्वक मनाया। इस अवसर पर सर्वप्रथम महाविद्यालय के प्राचार्य डा. इंद्र बहादुर ¨सह ने स्वामीजी की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। उन्होंने अपने संबोधन में स्वामीजी के 10 वचनों को छात्र जीवन में अपनाने को कहा जिसमें पढ़ने के लिए जरूरी है एकाग्रता, एकाग्रता के लिए जरूरी है ध्यान। ध्यान से ही हम इन्द्रियों पर संयम रखकर एकाग्रता प्राप्त कर सकते हैं। इस पर ध्यान दिलाया व छात्रों को इस कथन को अपनाने के लिए प्रेरित किया। द्वितीय एक दिवसीय शिविर के पूर्व निर्धारित कार्यों के तहत स्वयंसेवियों ने प्रेरक उद्बोधन तथा जनजागरूकता के नारे लगाते हुए अधिगृहित ग्राम बिल्ली मारकुंडी पहुंचे। दूसरे सत्र में बौद्धिक गोष्ठी का आयोजन किया गया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस