मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जासं, शक्तिनगर (सोनभद्र) : एनटीपीसी शक्तिनगर के सीआइएसएफ यूनिट में चल रही आरक्षी जीडी भर्ती परीक्षा में लगातार दूसरे दिन दूसरे अभ्यर्थियों के नाम पर परीक्षा देने आए मुन्नाभाई को भर्ती अधिकारियों ने पकड़ लिया। बायोमीट्रिक उपस्थिति व फोटो से मिलान कराने पर रविवार को पांच मुन्नाभाई को पकड़कर जेल भेज दिया गया। सहायक कमांडेंट की तहरीर पर सभी आरोपितों के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज किया गया है।

शुक्रवार से शुरू हुई इस भर्ती परीक्षा में शनिवार को स्थानीय पुलिस ने सीआइएसएफ के सहायक कमांडेंट सुरेंद्रपाल की तहरीर पर परीक्षा देने आए चार फर्जी अभ्यर्थियों को जेल भेज दिया था। रविवार को भी पुलिस ने सहायक कमांडेंट के तहरीर पर अंगूठा एवं फोटो का मिलान न होने पर अरविद सिंह निवासी सूलपुर जमनिया गाजीपुर, उसी जिले के कपूरचंद निवासी कोठिया, सुरेंद्र निवासी ग्राम दिलदार नगर गाजीपुर, भास्कर निवासी ग्राम रसूलपुर जमनिया व विवेक कुमार यादव निवासी गंगापुर रोहनिया वाराणसी को धोखाधड़ी के आरोप में जेल भेज दिया। पकड़े गए आरोपितों का कहना है कि हम सही हैं यहां अंगूठा एवं फोटो क्यों नही मिल रहा है यह तो बायोमीट्रिक मशीन तैयार करने वाली संस्था के अभिलेखों की जांच पड़ताल करने के बाद ही सच सामने आएगा। पुलिस मामले की जांच करने में जुटी हुई है। उधर, लगातार दूसरे दिन भी भर्ती परीक्षा में फर्जीवाड़ा का मामला सामने आने से हड़कंप मचा हुआ है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप