जागरण संवाददाता, सोनभद्र : जिला अस्पताल में मॉडल प्रसव केंद्र व मॉडल आपरेशन कक्ष की स्थापना का रास्ता साफ हो गया है। जिलाधिकारी के निर्देश के बाद कार्यवाही को अमल में लाया जा रहा है। प्रसव केंद्र में पहले जहां दो बेड थे वहां अब चार बेड होंगे। इसके अलावा छह बेड का एक अलग से कक्ष होगा, जिसमें जच्चा-बच्चा की देखभाल के लिए सारे उपकरण व संसाधन मौजूद रहेंगे।

जिलाधिकारी एस राजलिगम ने शनिवार को जिला अस्पताल का औचक निरीक्षण किया था। वे सीधे अस्पताल परिसर में स्थित प्रसव केंद्र पहुंचे थे। प्रसव केंद्र की दशा देख वे काफी चितित हो गए। दरअसल, दो बेड का यह प्रसव केंद्र काफी संकरा है। बरामदे में गर्भवती एक महिला को बेड पर देख जिलाधिकारी ने जानकारी ली। बताया गया कि प्रसव केंद्र काफी संकरा है। उसमें सिर्फ दो बेड हैं। यदि दोनों बेड पर रोगी है तो प्रसव से पीड़ित महिला को बरामदे में रखे दो बेड पर लिटा दिया जाता है और इंतजार किया जाता है कि बेड खाली हो। इसी व्यवस्था को देख जिलाधिकारी ने तत्काल दो के स्थान पर मॉडल प्रसव केंद्र का निर्माण कर चार बेड करने का निर्देश दिया। डीएम के निर्देश पर जिला अस्पताल में तत्काल कक्ष की तलाश शुरू हुई। निर्णय लिया गया कि जिला अस्पताल में तमाम वार्ड जैसे हाल काली हैं। उसी में एक वार्ड को प्रसव केंद्र व दूसरे को छह बेड का महिलाओं के लिए वार्ड बना दिया जाए। इस कार्य में सबसे बड़ी मुश्किल पैरा मेडिकल स्टाफ की कमी आ रही है। हालांकि उसका भी इंतजाम किया जा रहा है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप