जागरण संवाददाता, सोनभद्र : जीवितपुत्रिका व्रत की खरीदारी को लेकर शनिवार को नगर में दुकानों पर महिलाओं की काफी भीड़ रही। इसको लेकर बाजारों में काफी चहल-पहल रही। व्रत से पूर्व तोरई की सब्जी खाने की प्रथा के चलते उसके दाम आसमान छू रहे थे। खरीदारी करने के लिए दुकानों पर महिलाओं की भीड़ उमड़ी रही।

दरअसल, रविवार को महिलाएं जीवितपुत्रिका का व्रत रखेंगी। महिलाएं पूरे दिन निराजल व्रत रहकर अपने पुत्र की लंबी उम्र की कामना करती हैं। इसके लिए पूजन सामग्री के साथ ही चीनी से बनी मिठाई का बहुत ही महत्व होता है। इस खरीदारी को लेकर दुकानदारों द्वारा काफी पहले से तैयारियों की गई थी। उनके द्वारा लालरंग के धागे में जीयुतिया को पिरोकर पहले से ही तैयार कर लिया गया था। शनिवार को दुकानों पर खरीदारी के लिए महिलाओं की भीड़ उमड़ी रही। सबसे ज्यादा खरीदारी तोरई व लालरंग के धागे की हुई। आम दिनों में 20 से 25 रुपये किलो बिकने वाली तोरई 40 से 50 रुपये तक बिकी। इसके बाद भी बहुत से लोग तोरई के लिए भटकते रहे। जीवितपुत्रिका व्रत तोरई खाकर ही महिलाएं दूसरे दिन इस व्रत को करती हैं। व्रती महिलाएं शाम को नदी किनारे घाटों पर पहुंचकर जीयुतिया माता की पूजा-अर्चना करेंगी।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस