जासं, अनपरा (सोनभद्र) : देवाशीष सेन ने सोमवार को विध्याचल परियोजना के कार्यकारी निदेशक का पदभार ग्रहण किया। श्री सेन इससे पूर्व एनटीपीसी की प्रथम परियोजना सिगरौली विद्युत गृह में कार्यकारी निदेशक के रूप में कार्यरत थे। इस अवसर पर कार्यकारी निदेशक ने बेहतर कार्य निष्पादन के साथ विध्याचल को ऊर्जा उत्पादन एवं सामाजिक उत्थान की गतिविधियों में ऊचाइयों तक पहुंचाने की प्रतिबद्धता दोहराई।

श्री सेन ने कहा कि टीम विध्याचल के सहयोग से अपने परफारमेंस को और बेहतर बनाते हुए कंपनी के स्टेक होल्डर की अपेक्षाओं पर खरा उतरना है। बेहतर कार्य निष्पादन के लिए समुचित संसाधन एवं आधुनिक तकनीकी महत्वपूर्ण है। यह जुलाई 1983 में आइआइटी खड़गपुर से मैकेनिकल इंजीनियरिग में बी टेक करने के बाद सितंबर 1983 में एनटीपीसी में कार्यपालक प्रशिक्षु के रूप में ज्वाइन किया था। सितंबर 2017 को सिगरौली विद्युत गृह में परियोजना प्रमुख के रूप में पदभार ग्रहण किया था। थर्मल पावर स्टेशनों में इरेक्शन यूनिटों की कमीशनिग, पुरानी यूनिटों के आरएंडएम के साथ-साथ अनुरक्षण गतिविधियों में दक्ष अभियंता के रूप में जाने जाते हैं।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप