जागरण संवाददाता, अनपरा (सोनभद्र) : अनपरा तापीय परियोजना के मैटेरियल गेट पर ठेका मजदूरों के नियमितीकरण के लिए वर्कर्स फ्रंट से संबद्ध ठेका मजदूर यूनियन ने मजदूरों की सूची बनाने का काम गुरुवार से शुरू कर दिया। इस अभियान के तहत परियोजना में बीस, दस और पांच सालों से कार्यरत ठेका मजदूरों की सूची तैयार की जा रही है। जिसे उच्च न्यायालय में वर्कर्स फ्रंट की स्वीकार की गई याचिका में दाखिल किया जाएगा।

यूनियन के कार्यालय सचिव तेजधारी गुप्ता ने कहा कि अनपरा तापीय परियोजना में अवैधानिक ठेका प्रथा चलाई जा रही है। कानून में स्थायी कामों में ठेका मजदूरों के नियोजन पर प्रतिबंध के बावजूद पूरी जिदंगी मजदूरों को ठेका प्रथा में नियोजित किया जाता है। जिन्हें ग्रेच्युटी तक नहीं दी जाती है। इन मजदूरों को नियमित करने के लिए ऊर्जा मंत्री तक की अध्यक्षता में हुई वार्ता में समझौते हुए, पर हर सरकार ने इन समझौतों का उल्लंघन किया। योगी सरकार ने तो हाईकोर्ट में नियमितीकरण के लिए दाखिल वर्कर्स फ्रंट के प्रदेश अध्यक्ष दिनकर कपूर की याचिका का प्रबल विरोध किया, बावजूद इसके न्यायालय ने याचिका स्वीकार की। उम्मीद है कि हम नियमितीकरण की लड़ाई जीतेंगे। यूनियन नेता मसीहुदौला अंसारी ने विद्युत विभाग में कार्यरत संविदा श्रमिकों के संबंध में आए ऊर्जा मंत्री के बयान पर कहा कि यदि ऊर्जा मंत्री यह मानते हैं कि संविदाकार ठेका मजदूरों का शोषण कर रहे हैं तो उन्हें ठेका प्रथा समाप्त कर नियमितीकरण की कार्रवाई करनी चाहिए और विभाग में खाली पदों पर ठेका मजदूरों की भर्ती करनी चाहिए। इस अवसर पर जगत नारायण जायसवाल, शेख इम्तियाज, हकीक, चंद्रशेखर पाठक, कृपाशंकर पनिका, रंजीत जायसवाल, अशोक भारती, मखंचू, मोहम्मद सलीम,, गो¨वद प्रजापति, ददऊ यादव, विनोद यादव, अयोध्या यादव, अतुल पाठक आदि उपस्थित रहे।

Posted By: Jagran