जागरण संवाददाता, सोनभद्र : भाई-बहन के अटूट प्रेम का पर्व रक्षाबंधन गुरुवार को परंपरागत तरीके से मनाया गया। इस दौरान बहनों ने अपने भाइयों की कलाई पर अटूट प्रेम की डोर बांधकर मंगलकामना की तो भाइयों ने बहनों को उपहार देकर उनकी रक्षा का संकल्प दोहराया। इस बार भद्रा, सूतक आदि किसी तरह का व्यवधान न होने के कारण सुबह से शाम तक बड़े ही आराम से भाइयों ने राखी बंधवाई और बहनों को उपहार दिया। इसे लेकर जहां सड़कों पर भीड़भाड़ रही वहीं सवारी के लिए लोग परेशान दिखे। भाई जहां बहनों के घर जाने के लिए बसों का इंतजार करते रहे तो बहनें भाइयों के घर जाने के लिए आतुर दिखीं। हालांकि मुख्यमंत्री द्वारा सरकारी बसों में बहनों की मुफ्त यात्रा से काफी राहत मिली। शाहगंज, रामगढ़ क्षेत्र में भी रक्षाबंधन का त्योहार बड़े ही धूमधाम से मनाया गया।

घोरावल प्रतिनिधि के अनुसार : युवक मंगल दल की तरफ से घोरावल ब्लाक के अतरौली राजा गांव में रक्षाबंधन के अवसर पर पौधों को रक्षा सूत्र बांधकर उसे बचाने का संकल्प लिया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि युवक मंगल दल के संरक्षक व जिला पंचायत सदस्य राजकुमार यादव रहे। रक्षासूत्र बांधते हुए बताया कि जिस प्रकार से बहन अपने भाइयों की कलाई पर रक्षा सूत्र बांधकर उनकी लंबी उम्र की कामना करती हैं। ठीक उसी प्रकार से युवक मंगल दल के कार्यकर्ताओं द्वारा ग्राम पंचायत स्तर पर पौधों को रक्षा सूत्र बांधकर पौधों को बचाने का संकल्प लिया जा रहा है। इस मौके पर मनोज कुमार दीक्षित, छविनाथ पटेल, रवि यादव आदि मौजूद थे। पूर्व रेल राज्य मंत्री ने बंधवाई राखी

सोनभद्र: राब‌र्ट्सगंज ब्लाक के आमडीह गांव में गुरुवार को पूर्व केंद्रीय रेल राज्य व दूरसंचार मंत्री मनोज सिन्हा ने अपनी बहन से रक्षासूत्र बंधवाकर आशीर्वाद लिया। मनोज सिन्हा रात नौ बजे आमडीह पहुंचे। उन्होंने अपनी बहन आभा राय पत्नी डा. अरुण कुमार राय से राखी बंधवाई। पूर्व मंत्री के अलावा साथ में आए दो अन्य भाइयों अमिताभ सिन्हा व सुजीत सिन्हा को भी बहन ने राखी बांधी और त्योहार की बधाई दी। बता दें कि मनोज सिन्हा तब भी यहां हर वर्ष आते थे जब वह रेल राज्यमंत्री थे। अपने व्यस्ततम समय में से कुछ समय बहन के लिए निकालते थे और बहन के हाथ से प्यार की डोर बंधवाते रहे हैं। इस परंपरा को उन्होंने इस वर्ष भी कायम रखा। जेल में भाइयों को राखी बांधने को बेताब दिखीं बहनें

जिला जेल में बंदी भाइयों के लिए राखी बांधने के लिए सुदूर क्षेत्रों से आईं बहनों को यहां भीड़ में लंबी कतार लगानी पड़ी। जिन बहनों को जेल में जल्दी मिलाई और राखी बांधने का मौका मिला, वह खुशी से गदगद दिखीं। जिन्हें लाइनों में देर तक रहना पड़ा उनके चेहरे उदासी और बेताबी दिखी। शाम तक बहनों को भाइयों को राखी बांधने के लिए मशक्कत करनी पड़ी। ग्रामीण क्षेत्रों में भी रहा उल्लास

नगर सहित ग्रामीण क्षेत्रों में रक्षाबंधन का पर्व धूमधाम से मनाया गया। बहनों ने भाइयों की कलाई पर राखी बांधी। त्योहार के समय अपेक्षाकृत यातायात व्यवस्था खराब दिखी। इससे महिलाओं को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। रोडवेज बस स्टैंड पर दिनभर यात्रियों की भीड़ रही। निजी बसों की मनमानी के कारण यात्रियों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। बसों में भीड़ होने से यात्री काफी परेशान रहे। रोडवेज बसों की संख्या भी कम पड़ गई। राब‌र्ट्सगंज नगर में दोपहर के समय पन्नूगंज रोड पर रेलवे मेन चौक से लेकर सजौर पोखरे तक जाम लगा रहा।

Posted By: Jagran