जासं, सोनभद्र : लोकतंत्र के महापर्व मतदान में अगर किसी ने सच्चे मन से अपनी शत-प्रतिशत भागीदारी सुनिश्चित नहीं की तो वह हैं सिर्फ बीएलओ। 70 प्रतिशत से ऊपर मतदान का लक्ष्य लेकर चल रहे जिला प्रशासन को उस वक्त झटका लगा जब जिले में जगह-जगह से मतदाता सूची में नाम न होने या फिर वोटर पर्ची न मिलने की शिकायत आने लगी। न जाने कितने वोटर मतदाता सूची में नाम न होने के कारण बूथ से निराशा होकर वापस चले गए। कुछ का नाम मतदाता सूची में दर्ज था तो उनके घर पर पर्ची नहीं पहुंची। सोनभद्र में कई मतदान केंद्रों पर मतदाता सूची में गड़बड़ी होने से बड़ी संख्या में मतदाता वोट करने से वंचित रह गए। काफी इंतजार के बाद कोई हल नहीं निकलने पर मतदाताओं को निराशा होकर लौटना पड़ा। ओबरा विधानसभा क्षेत्र में सर्वाधिक मतदाताओं के नाम वोटर लिस्ट से गायब रहे। यही हाल राब‌र्ट्सगंज, दुद्धी व घोरावल विधानसभा क्षेत्रों का भी रहा। समीक्षा के बाद होगी कार्रवाई

मतदाता सूची में व्यापक गड़बड़ी को जिलाधिकारी अंकित कुमार अग्रवाल ने गंभीरता से लिया है। दैनिक जागरण से बातचीत में जिलाधिकारी ने कहा कि मतदान के बाद इसकी समीक्षा करूंगा। जहां-जहां पर सबसे अधिक मतदाता सूची में गड़बड़ी की शिकायत आई है वहां की समीक्षा की जाएगी। राष्ट्र निर्माण के इस कार्य में लापरवाही बरतने वाले बीएलओ व कर्मचारियों पर सख्त से सख्त कार्रवाई होगी।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप