जासं, अनपरा (सोनभद्र) : एनटीपीसी विध्याचल द्वारा सीएसआर के तहत ग्रामीण बच्चों में खेल को बढ़ावा देने के उद्देश्य से तीन माह के लिए एथलेटिक्स कोचिग कैंप का शुभारंभ किया गया। यह कैंप गर्मी की छुट्टियों के दौरान आयोजित कैंप में बेहतर प्रदर्शन करने वाले चयनित सात बालक एवं नौ बालिकाओं के लिए आयोजित किया गया।

कैंप की दो छात्राओं का चयन 17वीं नेशनल अंतर जिला जूनियर एथेलेटिक्स चैंपियनशिप तिरुपति (आंध्र प्रदेश) में आयोजित होने वाली प्रतियोगिता में हुआ है। कैंप के सभी प्रतिभागियों को स्पाईक शू प्रदान किया गया। मुख्य अतिथि देबाशीष सेन ने कहा कि खेल खेलना जीवन कौशल को पुनर्जीवित करने का सबसे अच्छा तरीका है। खेल एक ऐसा माध्यम है जो भारत के सभी नागरिकों को उनके क्षेत्रीय मतभेदों के बावजूद एक कड़ी में बांधता है। उन्होंने कहा कि ये बच्चे राष्ट्र के भविष्य हैं, उन्हें शिक्षा और खेलों के लिए समर्पित समय को संतुलित करके अपने समग्र विकास पर ध्यान देना चाहिए। मुख्य महाप्रबंधक सुनील कुमार ने कहा कि स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ दिमाग निवास करता है। वरिष्ठ प्रबंधक अभिषेक मेहरा ने स्वागत करते हुए कोचिग कैंप के विषय मे जानकारी दी। इस अवसर पर संगीता कौशिक, निखिलेश अवस्थी, स्नेहाशीष भट्टाचार्य आदि उपस्थित रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप