मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जागरण संवाददाता, रतनपुरा (मऊ) : हाथों में बलिया बलिदान दिवस का बैनर और मोमबत्तियां लिए सैकड़ों नवयुवक कदम से कदम मिलाते और शहीदों को नमन करते हुए भीमपुरा तिराहे से जब रविवार की शाम लगभग सात बजे स्वतंत्रता संग्राम सेनानी स्तंभ के लिए प्रस्थान किए, तो बाजार में अजब सा माहौल दिखाई दे रहा था। बाजारवासियों ने दुकान के बाहर खड़े होकर उनका स्वागत किया। बलिया बलिदान दिवस की पूर्व संध्या पर कैंडल मार्च ने लगभग एक किलोमीटर की दूरी एक घंटे में तय की। स्वतंत्रता संग्राम सेनानी स्तंभ पर पहुंचा तो वहां अखंड भारत का नक्शा बनाकर नमन किया और भारत माता की जय, बलिया बलिदान दिवस अमर रहे, अमर शहीदों का बलिदान, याद रखेगा हिदुस्तान. आदि नारे लगाए। सभी ने शहीदों को पुष्पांजलि अर्पित की। संकल्प लिया कि सेनानियों के बलिदान, शौर्य और पराक्रम को कभी व्यर्थ नहीं जाने देंगे और भारी बलिदानों से ली गई इस आजादी को अक्षुण्ण रखेंगे। बलिया जनपद के रतनपुरा विकास खंड के युवकों ने संकल्प लिया कि हम प्रतिवर्ष बलिया बलिदान दिवस के कार्यक्रम को भव्यता के साथ मनाएंगे, ताकि बदले भौगोलिक परिवेश में भी अपना गौरवशाली इतिहास भावी पीढ़ी का पाथेय बना रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप