महोली (सीतापुर) : कस्बे में एसबीआइ से जुड़े एक ग्राहक सेवा केंद्र प्रभारी द्वारा ग्रामीणों के लाखों रुपये लेकर भागने और सहायक शाखा प्रबंधक द्वारा शिकायत न सुनने से आक्रोशित दो दर्जन से अधिक ग्रामीणों ने बैंक का घेराव करने के बाद अंदर घुसकर प्रदर्शन किया। एक घंटे तक चले हंगामे के बाद सहायक शाखा प्रबंधक ने उनका शिकायती पत्र स्वीकार किया और पुलिस ने जांच के बाद कार्रवाई की बात कही है। जिसके बाद लोग शांत हुए।

ग्रामीण संगतिन किसान मजदूर संगठन की तहसील प्रभारी राम बेटी की अगुवाई में बड़ागांव रोड स्थित स्टेट बैंक शाखा पहुंची और स्वामी दयालपुर गांव के एसबीआई के ग्राहक सेवा केंद्र प्रभारी कैलाश ¨सह पुत्र सुंदर लाल पर ग्रामीणों की जमा रकम लेकर भागने को लेकर कार्रवाई की मांग की। सहायक शाखा प्रबंधक केके दुबे ने प्रार्थना पत्र लेने से इंकार कर दिया। इस पर आक्रोशित ग्रामीण बैंक परिसर में ही धरने पर बैठ गए। एक घंटे तक जमकर हंगामा चला। जिसके बाद सहायक प्रबंधक नरम पड़े और शिकायती पत्र लेकर कार्रवाई का आश्वासन दिया। इसके बाद ग्रामीण कोतवाली पहुंचे। एसआइ दयानंद तिवारी ने जांच का आश्वासन दिया। मुकदमा दर्ज, कार्रवाई नहीं

28 जुलाई के अंक में 'दैनिक जागरण' ने 'ग्राहक सेवा केंद्र पर खातों से निकल गए लाखों रुपये' शीर्षक से खबर प्रकाशित की थी। इसके बाद पुलिस ने 12 ग्रामीणों की सामूहिक शिकायत पर ग्राहक सेवा केंद्र प्रभारी कैलाश के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया था़, लेकिन प्रभावी कार्रवाई नहीं की थी।

Posted By: Jagran