सीतापुर : महिला का रसोइया के लिए चयन न होने के बावजूद प्रधान ने उसे विद्यालय में मध्याह्न भोजन बनाने के लिए भेज दिया। महिला गंदी होने के कारण बच्चों ने उसके हाथ से बना हुआ भोजन खाने से इनकार कर दिया। प्रधान ने बगैर चयन के महिला से एमडीएम कैसे बनवाया। यह तथ्य दो बीईओ व डीसी एमडीएम की जांच रिपोर्ट में सामने आने पर बीएसए ने प्रधान पर कार्रवाई के लिए डीपीआरओ को पत्र लिखा है।

मामला पिसावां ब्लॉक के प्राथमिक विद्यालय पल्हरिया से जुड़ा हुआ है। बीते दिनों इस स्कूल में मध्याह्न भोजन खाने से बच्चों ने मना कर दिया था। सोमवार को जांच टीम पल्हरिया विद्यालय पहुंची थी। जांच रिपोर्ट में पाया गया कि ग्राम प्रधान सालिकराम ने बगैर चयन के ही रामदेवी को एमडीएम बनाने के लिए विद्यालय भेजा था। बीएसए अजय कुमार ने मंगलवार को प्रधान पर कार्रवाई करने के लिए डीपीआरओ को पत्र लिखा है। जिसमें कहा गया है कि प्रधान ने बगैर चयन के महिला से भोजन बनवाने में मनमानी करना नियम विरुद्ध है।

Posted By: Jagran