सीतापुर : उपभोक्ताओं को बिजली आपूर्ति करने में ट्रांसफार्मरों का दम फूल रहा है। आए दिन ट्रांसफार्मर में खराबी आने से बिजली सप्लाई में बाधा आने का यही मुख्य कारण है। दो दिन पहले ही बिजली कर्मियों ने शहर में बिजली व्यवस्था का सर्वे किया है। इसमें पता चला है कि शहर में 15 से अधिक मुहल्लों में लगे ट्रांसफार्मरों का बिजली सप्लाई देने में दम फूल रहा है। ये ट्रांसफार्मर क्षमता से अधिक काम कर रहे हैं, ऐसे ट्रांसफार्मरों की क्षमता वृद्धि के लिए लिखापढ़ी की जा रही है। एसडीओ सिटी रवि गौतम ने रिपोर्ट बनाकर अधीक्षण अभियंता को दे भी दी है। एसडीओ ने बताया, शहर में मध्य रात में भ्रमण कर हर रोज टांसफार्मरों की कार्य क्षमता देखी जा रही है। सबसे ज्यादा ओवरलोड पुराने सीतापुर के ट्रांसफार्मरों में पाया जा रहा है। इसका कारण अधिकारी गर्मी व उमस में बिजली की खपत बढ़ना मान रहे हैं।

इन मुहल्लों के ओवरलोड मिले ट्रांसफार्मर

एसडीओ ने बताया कि सर्वे में मन्नी चौराहा, सीताराम मंदिर, कोट चौराहा, लक्ष्मी मार्केट, प्रेमनगर, कर्बला, तिवारी चौराहा, पक्का बाग, मुंशीगंज पानी की टंकी, कजियारा, विजय लक्ष्मी नगर में लगे ट्रांसफार्मर ओवरलोड मिले हैं। इसी तरह कांशीराम, दुर्गापुरवा, मिरदही टोला, चौधरी टोला सहित कई मुहल्लों के ट्रांसफार्मर ओवरलोड पाए गए हैं।

इन मुहल्लों की अभी तक नहीं दी गई आपूर्ति

जेई राशिद खां ने बताया कि पुराने सीतापुर के कई मुहल्लों ऐसे हैं, जहां अभी तक सप्लाई नहीं दी गई। नई आबादी दुर्गापुरवा में 100 केवीए ट्रांसफार्मर रखने की आवश्यकता है। मुहल्ले के रोहन ने बताया, ट्रांसफार्मर न होने से दूर से बांस-बल्ली के सहारे तार खींचकर लाए हैं। गल्ला गोदाम, मेला मैदान, मिरदही टोला में ट्रांसफार्मर नहीं लगे हैं। वैसे अब इन मुहल्लों में भी बिजली अधिकारी 100-100 केवीए ट्रांसफार्मर लगाने का भरोसा दे रहे हैं।

स्वीकृति मिलते ही बढ़ेगी क्षमता..

जहां भी ओवरलोड की समस्या आ रहीं है, वहां के अवर अभियंताओं को निर्देशित किया गया है। शीघ्र ही ट्रांसफार्मरों की क्षमता वृद्धि का आंकलन बनाकर देने के निर्देश दिए हैं। शासन से स्वीकृति मिलते ही काम शुरू कराया जाएगा।

- नंदलाल, अधीक्षण अभियंता

Edited By: Jagran