सीतापुर : प्रसव पीड़िता से अभद्रता कर उसे अस्पताल से भगा देने के मामले में गर्भवती के पिता ने स्टाफ नर्स पर गंभीर आरोप लगाए हैं। यही नहीं, गर्भवती के पिता ने इस मामले में सीएचसी अधीक्षक से आरोपित स्टाफ नर्स के विरुद्ध लिखित में शिकायत भी दर्ज कराई है। बताया जा रहा है कि चांदपुर की गर्भवती शिवानी को बुधवार सुबह प्रसव पीड़ा हो रही थी। उसके पिता अशोक यादव उसे प्रसव के लिए परसेंडी सीएचसी लाए थे। यहां पर स्टाफ नर्स राधा मिश्रा उन्हें मिली थीं। स्टाफ नर्स राधा मिश्रा ने प्रसव पीड़ा से परेशान गर्भवती से नाम-पता पूछा। अशोक यादव ने सीएचसी अधीक्षक को बताया है कि जब उनकी बेटी शिवानी ने स्टाफ नर्स राधा मिश्रा को अपना नाम और निवासी चांदपुर होना बताया तो वह भड़क गईं। चांदपुर की महिलाओं का प्रसव करने से इनकार करते हुए कहा, भाग जाओ आप लोग नेतागीरी बहुत करते हो। इस पर उनकी बेटी शिवानी रोने लगी। अनुनय-विनय के बाद भी स्टाफ नर्स शिवानी को भर्ती करने को तैयार नहीं थी। जिस पर वह बेटी को अस्पताल परिसर से निकल रहे थे। इसी बीच उन्हें एक महिला कुसमा मिल गई, जो उनका सहारा बनी। कुसमा शिवानी को स्टाफ नर्स के पास ले गई। निवेदन करते हुए प्रसव करा देने को कहा। जिस पर स्टाफ नर्स तैयार हुई और उसने 800 रुपये मांगे। अशोक यादव ने सीएचसी अधीक्षक से कहा है कि बेटी को प्रसव पीड़ा बढ़ती जा रही थी। इसलिए पैसे का मोह छोड़कर स्टाफ नर्स की मांग उसने पूरी कर दी। अशोक का कहना है कि स्टाफ नर्स के इस तरह के बर्ताव से उसकी बेटी शिवानी दो घंटे तक प्रसव पीड़ा से कराहती रही।

सीएमओ नहीं कर रहीं हैं कार्रवाई..

स्टाफ नर्स राधा मिश्रा के विरुद्ध अशोक यादव की शिकायत प्राप्त हुई है। कार्रवाई के लिए हमने सीएमओ को लिखा है। पूर्व में भी स्टाफ नर्स राधा मिश्रा के विरुद्ध शिकायत आई थी। उस संबंध में भी हमने उसके विरुद्ध लिखापढ़ी कर फाइल सीएमओ को भेजी थी, पर अभी तक उस मामले में भी स्टाफ नर्स राधा मिश्रा के विरुद्ध कोई कार्रवाई नहीं हो पाई है। फिलहाल हम अपने स्तर से आरोपित स्टाफ नर्स के विरुद्ध नोटिस जारी कर रहे हैं।

- डॉ. सुनील शुक्ल, सीएचसी अधीक्षक-परसेंडी

Edited By: Jagran