सीतापुर : बढ़ते कोरोना वायरस और त्योहार को देखते हुए परिवहन निगम ने खासकर महिला यात्रियों के लिए रक्षाबंधन के दिन फ्री यात्रा की सुविधा दी है। लेकिन यहां रोडवेज बस अड्डा पर परिचालक सवारियां नहीं मिलने से परेशान हैं। लखनऊ..लखनऊ..आवाज लगा रहे परिचालक मनमोहन सिंह ने बताया, सुबह सात बजे से बस लगी है। लखनऊ जाना है, पर दोपहर के एक बज गए हैं सवारियां ही नहीं मिली हैं। एआरएम कम से कम 22 सवारी से कम यात्री होने पर बस यात्रा प्रतिबंधित कर दी है। इसलिए बस के अंदर बैठे यात्री भी सवारियों की निर्धारित संख्या पूरी होने का इंतजार कर रहे हैं। कई यात्री तो सवारियों की न्यूनतम संख्या पूरी होने के इंतजार में ऊब गए तो बस छोड़कर दूसरे वाहनों से गंतव्य स्थान को निकल गए। इस बात को एआरएम विमल राजन भी मानते हैं कहते हैं कि कोरोना संक्रमण बढ़ रहा है इसलिए यात्री भी कम निकल रहे हैं। रोडवेज बस में यात्रियों की न्यूनतम 22 संख्या निर्धारण के संबंध में वे कहते हैं कि इससे कम संख्या में बस संचालन में परिवहन निगम को काफी नुकसान है। इसलिए प्रत्येक बस में सवारियों की न्यूनतम संख्या निर्धारण का आदेश उच्चाधिकारियों का ही है। एआरएम विमल राजन ने बताया, रविवार सुबह से दोपहर तीन बजे तक लखनऊ, लखीमपुर खीरी, शाहजहांपुर, हरदोई व बहराइच जिले के लिए 30 बसें निकल चुकी हैं।

सोमवार रात 12 बजे तक महिलाएं कर सकेंगी नि:शुल्क यात्रा

एआरएम विमल राजन ने बताया, सोमवार को रक्षाबंधन है। इसलिए परिवहन निगम ने महिलाओं को नि:शुल्क यात्रा की सुविधा दी है। रविवार रात 12 बजे से सोमवार रात 12 बजे तक महिलाएं रोडवेज बस की नि:शुल्क यात्रा करेंगी। उन्होंने बताया, इस नए आदेश के संबंध में चालक-परिचालकों को निर्देश जारी कर दिए गए हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस