सीतापुर: राज्य महिला आयोग सदस्य सुनीता बंसल की जनसुनवाई में 11 महिलाओं ने अपनी पीड़ा बताई। रोते हुए अपनी पीड़ा बताई तो राज्य महिला आयोग सदस्य ने संबंधित थाने से जानकारी ली। समस्या समाधान करने का निर्देश देकर थाने जाने को कहा। मिश्रिख, महोली, सीतापुर, रेउसा, तालगांव व बिसवां आदि थाना क्षेत्रों की 11 महिलाओं ने अपनी शिकायत सुनाई। जनसुनवाई के लिए आई महिलाओं को तीन घंटे इंतजार भी करना पड़ा। जनसुनवाई में अतिरिक्त मजिस्ट्रेट शिशिर कुमार, महिला थाने के सुरभि सिंह, 181 टीम की रामलली, प्रोबेशन विभाग से विधि अधिकारी दिलीप अवस्थी आदि मौजूद रहे।

गुजारा भत्ता के लिए भटकती विवाहिता

इमलिया थाना क्षेत्र के गांव लड़की की शादी महोली थाना क्षेत्र के गांव कपूरी निवासी दिवाकर के साथ हुई। पति ने छह वर्ष पूर्व मारपीट कर उसे भगा दिया था। मामला न्यायालय में गया तो चार हजार रुपये का गुजारा भत्ता बांध दिया गया। एक वर्ष से विवाहिता गुजारा भत्ते के रुपयों की रिकवरी के लिए महोली कोतवाली के चक्कर लगा रही है। 45 हजार रुपये हो गए हैं। पुलिस विवाहिता की शिकायत पर ध्यान नहीं दे रही।

दहेज के लिए घर से निकाला

मिश्रिख कस्बा निवासी साफिया खातून की शादी शहर कोतवाली के पक्का बाग निवासी नईम पुत्र शफीक के साथ हुई थी। ससुरालीजन दहेज की मांग को लेकर उसे शुरू से ही प्रताड़ति कर रहे थे। बेटी का जन्म होने के बाद उसे भगा दिया। परेशान होकर साफिया ने कोतवाली पुलिस का सहारा लिया। पुलिस ने मुकदमा तो दर्ज कर लिया, लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नहीं की। ससुरालीजन उसे जान से मारने की धमकी भी दे रहे हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस