सीतापुर : कागज में कुछ, हकीकत उलट। जी हां, पोलिग पार्टियां बूथ को खोजती रह जाएंगी। कारण यह है कि कागज पर जिन बूथों के नाम अंकित हैं उस नाम के बूथ मौके पर नहीं हैं। सेक्टर मजिस्ट्रेट पंकज वर्मा ने निर्वाचन अधिकारी को रिपोर्ट दी है कि उनको दी गई लिस्ट में पूर्व माध्यमिक विद्यालय कोड़री लिखा है, जबकि मौके पर पूरनपुर कोड़री है। बाउंड्रीवाल भी टूटी है।

सुर्जीपरा में भी विद्यालय का नाम अशुद्ध है। सेक्टर मजिस्ट्रेट आशीष सिंह ने आरओ को बताया है कि रुकनापुर के बूथ-286 पर पहुंचने वाला रास्ता 500 मीटर तक काफी सकरा है। बूथ-278 प्राथमिक विद्यालय गंगुवा बेहड़ जाने वाला 1500 मीटर रास्ता कच्चा है। निबौरी में बूथ-275 व 276 और बहेरवा के बूथ-277 पर बाउंड्रीवाल नहीं है। बहेरवा के प्राथमिक विद्यालय का शौचालय प्रयोग में नहीं है। परिसर में ईंटा व मलबा पड़ा है।

रुकनापुर का शौचालय जर्जर है। जगमालपुर, गंगुवा बेहड़, रुकनापुर, किशुनपुर के बूथों पर पीठासीन अधिकारी, सुपरवाइजर, बीएलओ का विवरण अंकित नहीं है। दहिरापुरा मजरा सुल्तानपुर तकिया में बाउंड्रीवाल, शौचालय टूटा है। हैंडपंप दूषित पानी दे रहा है। पोंगलीपुर महुवाताल का शौचालय मरम्मत योग्य है और बूथ परिसर में मलबा पड़ा है। बूथ-279 रावल में बिजली कनेक्शन नहीं है। दरियापुर, बरसिघवा में बाउंड्रीवाल नहीं है।

अकैचनपुर में भी बाउंड्रीवाल टूटी है। हरिरामपुर में साइड की बाउंड्री नहीं है। मोमिनाबाद पट्टी कटेसर में पहुंच मार्ग सकरा है। ढखेरा में मुख्य द्वार नहीं है। हरखीबेहड़ के स्कूल व शौचालय में दरवाजा नहीं हैं। बरसिघवा और कोड़रा मजरा पर्वतपुर के स्कूलों में हैंडपंप खराब हैं।

एसडीएम सदर अनिल कुमार ने बताया कि शुक्रवार को आयोजित बैठक में बीडीओ, बीईओ, सहायक अभियंता बिजली, जल निगम व अन्य संबंधित विभागों के अधिकारियों को बूथ पर व्यवस्थाएं दुरुस्त करने को कहा है। अगले सप्ताह तक इंतजाम सही नहीं होते हैं तो कार्रवाई की जाएगी।

बूथों पर बिजली, पानी व रैंप तक नहीं :

शाहजादपुर के बूथ पर बाउंड्रीवाल नहीं है और शौचालय निष्प्रयोज्य है। सिकंदरपुर में दो बूथ-112 व 113 हैं। इन दोनों पर बाउंड्री नहीं है। इसी तरह मंगरुवा में रास्ता कच्चा है और स्कूल में बाउंड्री भी नहीं है। बरियाडीह, बरोसा, सुर्जीपारा में भी बाउंड्रीवाल नहीं है। उदनापुर में तीन बूथ 247, 248 व 251 हैं लेकिन, बिजली की सुविधा नहीं है। वजीरपुर में बाउंड्रीवाल नहीं है। रैंप भी मरम्मत योग्य है। जरथुआ, नेवादा में बाउंड्रीवाल नहीं है तो पैतला में क्षतिग्रस्त हालत में है। खिदरापुर में बाउंड्री और बिजली कनेक्शन कुछ भी नहीं है। फिरोजपुर में बाउंड्रीवाल नहीं है रैंप भी गड़बड़ है।

इलेक्ट्रिक कनेक्शन व वायरिग नदारद :

पिपरी, मझिगवां, अहमदनगर, देवरिया में बिजली कनेक्शन नहीं है। गंगुवा बेहड़ में वायरिग नहीं है। देवरिया के बूथ-199 पर जाने वाले रास्ते में 800 मीटर मार्ग संकरा है, हालांकि खड़ंजा बना हुआ है। डीएम-एसपी ने लिया व्यवस्था का जायजा :

डीएम विशाल भारद्वाज और एसपी आरपी सिंह ने शनिवार को शहर में कई बूथों पर जाकर इंतजाम देखे। साथ ही मतदान कराने को पोलिग पार्टियों के भेजने के संबंध में आरएमपी डिग्री कालेज में प्रबंधों का जायजा लिया।

मतपेटिका संकलन व मतगणना के लिए आ‌र्म्स ट्रेनिग सेंटर और पीएसी का भी मुआयना किया। इस दौरान एडीएम राम भरत तिवारी, एएसपी उत्तरी डा. राजीव दीक्षित, एसडीएम सदर अनिल कुमार, सीओ सिटी पीयूष कुमार सिंह भी थे।

Edited By: Jagran