सीतापुर : बारिश से शारदा व घाघरा नदियों के बढ़ते जलस्तर के साथ ही ग्रामीणों की मुश्किलें भी बढ़ने लगी हैं। नदियों के पानी ने ग्रामीणों को परेशान करना शुरू कर दिया है। बेहटा ब्लाक के गांव बसंतापुर निवासी विनीत तिवारी, रामपोष, रुद्रप्रसाद, अशोक कुमार आदि ने बताया कि, शारदा नदी का पानी बढ़ने लगा है। बसंतापुर व कोल्हूपुर आदि गांवों को सुरक्षित करते के लिए कराया जा रहा बचाव कार्य ठप है। काम की रफ्तार भी काफी कम है। अगर ऐसा ही रहा तो परियोजना का काम समय से पूरा नहीं हो सकेगा, जबकि जलशक्ति मंत्री ने दस दिन में काम पूरा करने का निर्देश दिया था।

बचाव कार्य की धीमी रफ्तार से ग्रामीण नाराज

रेउसा : शारदा व घाघरा नदियों के जलस्तर में सोमवार को बढोतरी दर्ज की गई। नदी का पानी बढ़ने से गांव फौजदारपुरवा, परमेश्वरपुरवा, जटपुरवा आदि गांवों के ग्रामीणों की मुश्किलें भी बढ़ने लगी हैं। पानी बढ़ता देख, ग्रामीणों की नींद उड़ गई है। कटान के डर से ग्रामीणों ने ऊंचे स्थानों पर ठिकाना बनाने का प्रयास भी शुरू कर दिया है। ग्रामीण रामभजन, मथुरा प्रसाद अवस्थी, नरेश बाबू सिंह, राजेंद्र, योगेंद्र प्रताप, ललित, जगदीश प्रसाद, अनिल, सुमेर, रामप्रवेश, जियाउद्दीन, अनिल, नसीम, वाहिद व मनोज कुमार आदि ने बचाव कार्यों की धीमी रफ्तार पर नाराजगी जताई। ग्रामीणों ने कहा कि, समय से काम पूरा न होने पर गांव कटान की जद में आ जाएंगे।

कटी सड़क तो कहीं जलभराव सीतापुर: बारिश के कारण ग्रामीण क्षेत्रों में भी काफी जलभराव हो गया। कहीं- कहीं सड़क कट गई तो कहीं गांव की गलियां जलमग्न रहीं। रामपुर मथुरा: गोंदहा रोड पर सियारपुर अटौरा में करीब 3 मीटर सड़क कट गई। सड़क पर गड्ढा हो गया। गड्ढे के कारण केवल दोपहिया वाहन व पैदल राहगीर ही निकल पा रहे हैं। चार पहिया वाहन काफी चक्कर लगाकर मुख्य सड़क पर पहुंच पा रहे हैं। बहादुरगंज में बस स्टाप के जलभराव होने से मार्ग पर आवागमन बाधित हो गया। बिसवां: बड़े चौराहे पर दुकानों के आगे तथा झज्जर रोड पर जलभराव हो गया। बड़े चौराहे पर व्यापारियों ने कहा दुकानों के अंदर रखा सामान खराब हो रहा है, दुकान से बाहर निकलने के लिए गंदे पानी से होकर गुजरना पड़ता है। उधर अमरनगर झज्जर रोड पर पानी भरा होने के चलते लोगों को नाले के पानी से होकर अपने गंतव्य तक पहुंचना पड़ रहा है। पिसावां: ग्राम ब्रह्मावली गांव में भी जलभराव हो गया। ग्रामीणों ने जलभराव की समस्या को दूर कराने के लिए ग्राम प्रधान संग्राम सिंह से मांग की। ग्राम प्रधान ने पंपसेट से पानी निकलवाया।

Edited By: Jagran