जागरण टीम, सीतापुर : एमबीबीएस और बीडीएस में प्रवेश के लिए होने वाली राष्ट्रीय पात्रता और प्रवेश परीक्षा नीट-2019 में जिले दो होनहार पास हो गए हैं।

बेटे की शिक्षा को लिया लोन

रेउसा के तंबौर मार्ग पर ढेनुआ गांव के उत्तर दिशा में खेत में झोपड़-पट्टी के घर में जीवन बिता रहे कृष्णकांत व उनके परिजन मूलत: गाजीपुर जिले के नसरतपुर रहने वाले हैं। कृष्णकांत मौर्य के पिता रमेश मौर्य बताते हैं कि दो साल पहले बेटे की पढ़ाई के लिए उन्होंने बैंक से लोन लिया था। उनका बड़ा बेटा राम प्रवेश इंजीनियर है। दूसरे बेटे कृष्णकांत मौर्य ने दूसरे प्रयास में 86.53 प्रतिशत अंकों के साथ पास किया है। इसमें ऑल इंडिया रैंक में 623/720 अंक प्राप्त किए हैं। प्राइमरी शिक्षा गांव के ही प्राथमिक विद्यालय में हुई। जवाहर नवोदय खैराबाद से वर्ष 2017 में इंटर किया था। दादी-बाबा को भी श्याम पर नाज

शहर में श्रीगंगाधर मिश्र नगर कालोनी के श्यामचेतन्य ने नीट में 99.70 प्रतिशत अंक के साथ ऑल इंडिया रैंक 4165 प्राप्त की है। इन्होंने कुल 720 अंक की परीक्षा में 620 अंक अर्जित किए हैं। इनकी दादी सौभाग्य अवस्थी ने बताया कि उनका पोता श्यामचेतन्य शहर के केंद्रीय विद्यालय से इंटर पास करने के बाद बीएससी के लिए इलाहाबाद चला गया था। इस साल उसका बीएससी द्वितीय वर्ष है। छोटा भाई श्यामचिन्मय कक्षा चार में है। पिता चोक्क्ष विभू अधिवक्ता हैं। श्यामचेतन्य अपनी सफलता का श्रेय चाचा ईष्ट विभू और बाबा डॉ. जय प्रकाश अवस्थी व गुरुजनों को देते हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप