सीतापुर: अब सुबह की प्रार्थना में गुड टच-बैड टच की सीख मिलेगी। अच्छे व्यवहार का संकल्प भी दिलाया जाएगा। क्या करें और क्या न करें इसके बारे में भी बताया जाएगा। बच्चों व महिला अपराध पर अंकुश के लिए से पहल करने को कहा है जिले की नोडल अधिकारी मिनिस्ती एस ने। गुरुवार शाम शहर कोतवाली का निरीक्षण करने पहुंची नोडल अधिकारी महिला अपराधों पर रोकथाम के लिए गंभीर दिखी। महिला अपराधों की रोकथाम के उपाय, अपराध के प्रकार, किस उम्र में इस तरह के अपराध अधिक हो रहे हैं, इसके बारे में जानकारी ली। नोडल अधिकारी ने कवच अभियान के बारे में पूछा। उन्होंने कहा कि, जिले में कितने परिषदीय स्कूल हैं और कितने स्कूलों में कवच की सीख दी गई। नोडल अधिकारी ने महिला थाना का जायजा लिया। शहर कोतवाली में मुकदमा पंजीकृत करने व महिला उत्पीड़न के मामलों के निस्तारण की प्रक्रिया जानी। इस दौरान डीएम अखिलेश तिवारी, एसपी एलआर कुमार, सीडीओ संदीप कुमार, एडीएम विनय पाठक, एएसपी मधुबन सिंह आदि मौजूद रहे।

बच्चे सुनेंगे डीएम और एसपी का संदेश

प्रार्थना के समय गुड टच- बैड टच सीख का वीडियो प्रसारित किया जाएगा। उसके साथ ही डीएम व एसपी का संदेश भी बच्चों को सुनाया जाएगा। जिले के अन्य अधिकारियों के संदेश भी प्रसारित किए जाएंगे। जागरूकता की सीख के साथ अच्छे व्यवहार की बातें भी बताई जाएंगी।

पुलिस के साथ एसडीएम भी करें काम

महिला अपराधों की रोकथाम में पुलिस के अलावा एसडीएम व अन्य अधिकारियों की जिम्मेदारी भी तय की जाएगी। नोडल अधिकारी ने कहा कि, पुलिस से संबंधित मामले तो वो निपटाएगी ही। क्षतिपूíत व जागरूकता अभियान में एसडीएम भी भागीदारी करें। महिला अपराधों की समीक्षा में समाज कल्याण, दिव्यांग विभाग आदि विभागों के अधिकारी भी प्रतिभाग करें।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस