सलोन : कोतवाली क्षेत्र के मदापुर कहुआ गांव में शुक्रवार को भोर में एक दिव्यांग ने किसान की डंडे से पीट-पीटकर हत्या कर दी। ग्रामीणों ने उसे पकड़ लिया और पुलिस के सुपुर्द कर दिया। किसान और दिव्यांग के बीच कुछ दिन पहले ही मामूली कहासुनी हुई थी। जिसमें दिव्यांग ने उसे देख लेने की धमकी दी थी। पुलिस ने हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है।

ग्राम सभा मदापुर कहुआ निवासी राम नरेश (55) पुत्र स्व. श्रीपाल गुरुवार की रात भोजन करके रोज की भांति गांव के समीप सड़क के किनारे ट्यूबवेल पर सोने गया था। शुक्रवार को भोर में लगभग चार बजे पास के गांव पूरे शिव सेवक का पुरवा ममुनी निवासी रंजीत कुमार वहां आ धमका, जोकि बायें हाथ से दिव्यांग है। उसने सो रहे राम नरेश पर सफेदा के डंडे से ताबड़तोड़ वार करना शुरू कर दिया। किसान को संभलने का मौका ही नहीं मिला। दिव्यांग ने उन पर इतने वार किए कि सिर की हड्डियां टूट गईं। पूरी चारपाई खून से सन गई। जब राम नरेश की सांसें थम गईं तो रंजीत वहां से भाग निकला। कुछ देर बाद किसान का भतीजा विशाल जब ट्यूबवेल पर पहुंचा तो वहां का नजारा देख अवाक रह गया। उसने रंजीत को खून से सना डंडा लेकर भागते देखा तो गांव वालों को मदद के लिए बुलाया। फिर ग्रामीणों ने घेराबंदी करके गांव के पास ही बाग से उसे पकड़ लिया और जमकर पीटा। बाद में पुलिस को सूचना देकर बुलाया गया।

कोतवाल रामाशीष उपाध्याय ने बताया कि राम नरेश और रंजीत में किसी बात को लेकर मामूली कहासुनी हुई थी। जिसे किसान ने तो नजरअंदाज कर दिया लेकिन दिव्यांग ने मन में बिठा लिया। तभी उसने भोर में उसको बेरहमी से मारा पीटा। उसे गिरफ्तार कर जेल भेजा जा रहा है।

गांव वालों को दे रहा था धमकी

स्थानीय लोगों ने बताया कि रंजीत कुमार आएदिन गांव में घूम-घूमकर लोगों को जान से मारने की धमकियां देता था। मगर उसकी बात को कोई गंभीरता से नहीं लेता था। किसी को इस का अंदेशा नहीं था कि वो इतनी बड़ी वारदात को अंजाम दे डालेगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस