तालगांव (सीतापुर) : कोतवाली क्षेत्र में सोमवार रात घात लगाए बैठे नकाबपोश सशस्त्र लुटेरों ने पांच राहगीरों को अपना शिकार बनाया है। पांचों राहगीर मजदूर थे, जो मजदूरी करने के बाद पैदल ही अपने घर जा रहे थे। लुटेरों ने सभी को बंधक बनाकर उनकी पिटाई की और लूटपाट की वारदात को अंजाम दिया। पुलिस तहरीर मिलने के बाद भी घटना से अनभिज्ञता जता रही है।

ग्राम रौरापुर निवासी शिवसागर, जीतू, अमरीश कुमार, सोनू, विनीत कुमार मजदूरी करते हैं। सोमवार को पांचों मजदूर काम करने जिला मुख्यालय गए थे। वहां से छुट्टी मिलने पर ये सभी बस से तालगांव क्षेत्र के सिकंद्रा तिराहे पर उतरे और पैदल ही घर के लिए चल दिए। रास्ते में प्राथमिक विद्यालय के निकट सुनसान स्थान पर छह सशस्त्र नकाबपोश लुटेरों ने राहगीरों को असलहा दिखाकर रोक लिया। राहगीरों ने विरोध किया, तो लुटेरों ने उन्हें धमकाते हुए पिटाई की। जिसके बाद बंधक बनकर शिव सागर से 800 रुपये, जीतू से 1500 रुपये, अमरीश से 500 रुपये, सोनू से 1000 रुपये व विनीत से 900 रुपये लूट लिए। नकदी लूटने के बाद बदमाश सभी मजदूरों को मुंह न खोलने की धमकी देते हुए मौके से निकल भागे। वारदात के बाद पीड़ितों ने लूट की जानकारी यूपी 100 डॉयल कर पुलिस को दी। वहीं कोतवाली में भी अज्ञात लुटेरों के खिलाफ तहरीर दी। वरिष्ठ उपनिरीक्षक सूर्य प्रकाश ने बताया कि ऐसी वारदात की जानकारी उन्हें नहीं है।

Posted By: Jagran