सीतापुर : शहर कोतवाली इलाके में गुरुवार को दबंग ने दोस्त की गोली मारकर हत्या कर दी। वारदात को अंजाम देने के बाद हत्यारोपित मौके से फरार हो गया। हत्या की वजह पैसों का लेनदेन बताया जा रहा है। पुलिस तहरीर के आधार पर केस दर्जकर जांच में जुटी है। दिनदहाड़े हुई वारदात से इलाके में सनसनी फैल गई है।

शहर के चौबे टोला निवासी गोलू उर्फ संदीप (30) पुत्र स्व. देवेश कुमार मिश्रा गुरुवार सुबह घर से निकला था। इसके बाद शाम करीब चार बजे शहर के मछली मंडी के पीछे सरांय नदी के बंधे पर उसके सीने पर गोली मार दी गई, इससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया। युवक को फौरन जिला अस्पताल लाया गया, जहां पर डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। हत्या की सूचना मिलते ही पुलिस महकमे के होश उड़ गए। एसपी एलआर कुमार, सीओ सिटी, शहर कोतवाल ने घटनास्थल की जांच करने के बाद जिला अस्पताल पहुंचे। परिवारजन को कार्रवाई का आश्वासन दिया। घटना को लेकर मृतक के परिवारजन का कहना है कि युवक के साथ उसका चचेरा भाई अभिषेक भी था। घर से जाने के बाद गोलू के पास इसी मुहल्ले के रहने वाले साथी एहसान ने कॉल कर बुलाया। दोस्त के बुलाने पर युवक अपने चचेरे भाई के साथ मछली मंडी के पीछे पहुंचे। पुलिस के मुताबिक, यहां पर दोनों ने शराब पी। इसके बाद पैसे के लेनदेन को लेकर कहासुनी हो गई।

बताया जाता है कि बात विवाद बढ़ने पर एहसान ने अवैध असलहे से सीने पर गोली मारकर युवक की हत्या कर दी। वारदात के बाद जिला अस्पताल में इमलिया सुल्तानपुर, रामकोट, तालगांव, खैराबाद समेत कई थानों की पुलिस फोर्स मौके पर पहुंच गई थी। शहर कोतवाल अंबर सिंह का कहना है कि एहसान ने गोली मारकर हत्या की है। तहरीर के आधार पर केस दर्जकर कार्रवाई की जा रही है। पिकअप चलाता था गोलू, एहसान पर था

मृतक के परिवारजन का कहना है कि गोलू इन दिनों पिकअप चलाता था। उसका एहसान पर पैसा था। रुपये देने के लिए बुलाने के बहाने हत्या कर दी गई। एक माह पूर्व हुआ था विवाद

सीओ सिटी योगेंद्र सिंह का कहना है कि मृतक और आरोपित दोस्त थे। पैसे के लेने को लेकर दोनों में एक माह पूर्व मारपीट हुई थी। 151 की कार्रवाई हुई थी। इसके बाद पैसे देने की बात तय हो जाने के बाद दोनों ने सुलह कर ली थी।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस