सीतापुर : जिले के आठ ब्लॉकों के करीब 200 गांवों में मंडराने के बाद शनिवार शाम टिड्डी दल से छुटकारा मिला ही था कि, रविवार को दो अन्य टिड्डी दलों ने जिले में दस्तक दे दी। दोपहर बाद 2.30 बजे हरदोई जिले की सीमा से एक टिड्डी दल ने पिसावां ब्लॉक के गांवों में प्रवेश किया। वहीं दूसरा टिड्डी दल मिश्रिख तहसील के गोंदलामऊ ब्लॉक के गांवों में पहुंच गया। नगवा जयराम, सैदापुर, जमलापुर, औरंगाबाद, सरवा, आंबाघाट, आदि गांवों में टिड्डी दल नजर आने के बाद ग्रामीण सतर्क हो गए। पटाखे दागकर, थाली व ढोल बजाकर टिड्डी दल को भगाया गया।

एसडीएम मिश्रिख राजीव पांडेय, तहसीलदार सीके त्रिपाठी व कृषि रक्षा इकाई के अधिकारी व कर्मचारियों ने प्रभावित गांवों में पहुंचकर टिड्डियों से बचाव का प्रयास शुरू कर दिया। फसलों पर बैठ न पाने के चलते किसानों को नुकसान का सामना नहीं करना पड़ा। उप निदेशक कृषि अरविद मोहन मिश्रा का कहना है कि, टिड्डियों के दो दलों ने हरदोई जिले की सीमा से सीतापुर में प्रवेश किया है। एक दल पिसावां ब्लॉक के गांवों से प्रवेश कर महोली से ऐलिया और परसेंडी की ओर गया। दूसरा दल गोंदलामऊ के गांवों से मछरेहटा व पिसावां की ओर गया है।

इन गांवों से गुजरा टिड्डी दल

गोंदलामऊ ब्लॉक के गांवों से जिले में प्रवेश करने वाला टिड्डी दल नगवा जयराम, पहला, बरताल, रामगढ़, सैदापुर, रायपुर, जरिगवां, चांदपुर, महमदपुर, कोरोना, सरवा, सरोसा, गेंधरिया आदि गांवों में खतरा बन मंडराया। ग्रामीणों की सजगता के चलते टिड्डी दल फसलों पर बैठ नहीं पाया। टिड्डी दल मिश्रिख ब्लॉक के भिठौली, इमलिया, मड़ारी, फूलपुर झरिया, राजनगर, बरेठी, पतौंजा, मलिक्यानपुर, तेलियानी आदि 50 से अधिक गांवों से गुजरा। कसमंडा ब्लॉक क्षेत्र के गांव नवागांव, हरिहरपुर, भानपुर, हमीरपुर, पट्टी, कमलापुर, महोली, पताराकला, सुरैंचा आदि 20 से अधिक गांवों में टिड्डी दल मंडराया। महोली क्षेत्र के दूलामऊ आदि गांवों से गुजरने के बाद टिड्डी दल ऐलिया होते हुए परसेंडी ब्लॉक के गांवों में नजर आया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस