सीतापुर : शहर गल्ला मंडी में गुरुवार को भी किसान नेताओं की सक्रियता देखने को मिली। संयुक्त किसान मोर्चा के जिला संयोजक पिदर सिंह व शिव प्रकाश सिंह ने मंडी में घूम-घूम कर लाउडस्पीकर से निर्धारित एमएसपी से कम भाव पर धान नहीं बेचने की अपील की। कहा कि धान का भाव 1940 रुपये प्रति क्विंटल है। इससे कम दाम पर उपज न बेचें। इस दौरान इन नेताओं ने सभी किसानों से एकजुट होने का आह्वान भी किया।

करीब डेढ़ घंटे तक किसान मंडी में किसानों से अपील करते रहे। इन नेताओं से कुछ किसानों ने एमएसपी से कम मूल्य पर अपनी उपज बेचने का कारण भी बताया। कहा कि उन लोगों ने आढ़तियों से एडवांस में पैसा ले रखा है। दूसरा, उनका धान भी मानक के अनुरूप नहीं है, गीला है। इसलिए आढ़तियों के यहां ही धान बेचना उनकी मजबूरी है।

क्रय केंद्रों पर सात ट्राली धान की तौल :

सरकारी खरीद के दूसरे दिन गुरुवार को गल्ला मंडी में आरएफसी के क्रय केंद्र पर एक ट्राली, पीसीयू केंद्र पर दो ट्राली, पीसीएफ केंद्र पर दो ट्राली धान की तौल हुई है। मंडी में प्लेटफार्म नंबर चार पर मंडी समिति के केंद्र पर दो ट्राली धान तौला गया है।

1100 से 1350 रुपये तक रहा भाव :

मंडी में थोक क्रेताओं के मुताबिक गुरुवार को मंडी में 1,100 से 1,350 रुपये के भाव में धान बिका है। वैसे अब 10-12 हजार बोरा धान हर रोज मंडी आ रहा है। आने वाले धान में नमी अधिकतम 20 प्रतिशत है। व्यापारियों का मानना है कि दीवाली तक धान में नमी अधिकतम 15 प्रतिशत तक रह जाएगी।

Edited By: Jagran