औरंगाबाद (सीतापुर) : राष्ट्रीय किसान मंच के बैनर तले नैमिषारण्य पावर हाउस पर मंगलवार को चल रहे धरना-प्रदर्शन के दौरान बिजली आपूर्ति रुकने से किसान भड़क उठे। किसान मंच ने औरंगाबाद फीडर की बिजली आपूर्ति 12 बजे के करीब रुकवा दी। जिससे इस फीडर के डेढ़ सैकड़ा किसान पावर हाउस पहुंच गए और आपूर्ति बहाल करवा दी। टकराव की आहट पाकर एसडीएम व एसडीओ मिश्रिख मौके पर पहुंचे। एसडीओ ने तीन किमी बिजली लाइन का तार बदलने के लिखित आश्वासन पर लोगों का आक्रोश कम पड़ा।

लालपुर, रामशाला, मानपुर, कादीनगर, असरफनगर, भिकनापुर, आदि गांवों में लो-वोल्टेज की समस्या को लेकर राष्ट्रीय किसान मंच से जुड़े लोगों ने नैमिषारण्य पावर हाउस पर धरना दिया। इस दौरान औरंगाबाद फीडर की बिजली आपूर्ति रुकवा दी। इसकी जानकारी मिलते ही इस फीडर से जुड़े एक सैकड़ा से अधिक किसान व किसान यूनियन के महासचिव उमेश पांडेय पावर हाउस पर पहुंच गए और बिजली आपूर्ति बहाल करा दी। टकराहट की सूचना पर एसडीएम फूलचंद्र मौर्या व एसडीओ रंजीत कुमार मौके पर पहुंचे। बिजली लाइन का तीन किमी. लंबा तार बदलने के एसडीओ के लिखित आश्वासन के बाद किसान मंच ने धरना समाप्त किया। किसान यूनियन का कहना था कि औरंगाबाद मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्र है। रम•ान माह में बिजली कटौती से रोजदार बहुत परेशान हुए। धरना-प्रदर्शन में किसान मंच के मोहित मिश्र, शिव प्रकाश ¨सह, सरदार ¨सह, ठाकुर प्रसाद, अल्पना ¨सह, भारतेंदु मिश्र, शिव सागर यादव, मकरंद यादव समेत अन्य लोग मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस