सीतापुर : बेसहारा पशुओं से परेशान ताहपुर के ग्रामीणों ने एक सैकड़ा से अधिक बेसहारा पशुओं को घेरकर सोमवार को पूर्व गांव के पूर्व माध्यमिक विद्यालय में बंद कर गेट में ताला लगा दिया। इससे स्कूल पहुंचे शिक्षक व बच्चे बाहर खड़े रहे। सूचना एसडीएम को मिली तो उन्होंने कोतवाली पुलिस को मौके पर भेजा और पशुओं को बाहर निकाला गया। क्षेत्र के लोग बेसहारा पशुओं से तंग हैं। पशु फसलों को चौपट कर रहे हैं। ताहपुर निवासी जगदंबा, विनोद, रामबिलास, नीरज, मोहित, रामसागर, अनिल, मुरलीधर, रामनरेश, रंजीत आदि ग्रामीणों ने बताया कि हम लोगों के पास थोड़ी जमीन हैं। जिन पर लगी फसलें पशु नष्ट कर रहे हैं। इससे उन लोगों को बहुत नुकसान हो रहा है। तहसील में भी शिकायत की लेकिन ध्यान नहीं दिया गया। इसी से तंग आकर उन्होंने एक राय होकर व पशुओं को विद्यालय परिसर में लाकर बंद कर दिया। सूचना के बाद एसडीएम सुरेश कुमार के निर्देश पर कोतवाली प्रभारी चैंपियनलाल मौके पर पहुंचे और ग्रामीणों को समझाया। इसके बाद पुलिस ने गेट खोलकर पशुओं को बाहर निकाला। इससे स्कूल का शिक्षण कार्य बाधित रहा। पशु बाहर निकले तब शिक्षक व बच्चे परिसर में पहुंचे और पढ़ाई शुरू हुई। एसडीएम सुरेश कुमार ने बताया कि शासन से गौशाला बनाने के निर्देश हैं। लेकिन गौशाला निर्माण होगा तब पशुओं को बंद किया जाएगा। पुलिस हस्तक्षेप से पशुओं को बाहर निकाला गया तब शिक्षण कार्य शुरू हो सका है।

Posted By: Jagran