सिद्धार्थनगर : पुलिस अधीक्षक विजय ढुल ने गुरुवार को पुलिस लाइन सभागार में नाबालिग छात्रा (15) के अपहरण के मामले का पर्दाफाश किया। एक नवंबर को वह अपने शादीशुदा दोस्त के साथ बाइक से महराजगंज के कोल्हुई गई थी। देर होने पर उसने परिजनों को फिल्मी कहानी सुनाई। देर शाम परिजन कोल्हुई से उसे लेकर आए। पुत्री के सकुशल घर लौटने पर उन्होंने पुलिस व 100 नंबर को सूचना नहीं दी। आरोपित दोस्त को पुलिस ने गिरफ्तार किया। आरोपित का नाम थाना चिल्हिया के ग्राम सिरवत निवासी रंजीत उर्फ कोमल है।

एसपी ने बताया कि सदर थाना क्षेत्र के एक गांव निवासी पिता ने तहरीर में कहा था कि सनई स्थित एक कालेज में उसकी पुत्री हाईस्कूल की छात्रा है। तीन बजे कालेज की छुट्टी होने पर उसने घर आने के लिए सनई स्टैंड से एक टैंपो पकड़ा। दो महिला सवारी पहले से बैठी थी। गांव के पास चालक ने बैठी महिलाओं को पुत्री की फोटो दिखाई। विरोध करने पर महिलाओं ने किसी दवा का छिड़काव किया। होश में आने पर देखा कि वह कोल्हुई के एक स्कूल के कमरे में बंद है। हाथ-पैर बंधे हुए हैं। चालक व दोनों महिलाएं हत्या करने की योजना बना रहे हैं। यह सुनने के बाद वह किसी प्रकार खिड़की से कूद कर फरार हुई।

..

कोल्हुई में दोस्त व छात्रा के बहन की है ससुराल

महराजगंज के कोल्हुई बाजार से कुछ ही दूरी के एक गांव में छात्रा व उसके दोस्त दोनों के बहनों की ससुराल है। स्कूल में पहुंचने के बाद दोस्त अपनी बहन की ससुराल गया। जहां शाम होने की बात कहते हुए वहां लोगों ने रोक लिया था। इस दौरान देर होने लगी। इसके बाद छात्रा कोल्हुई बाजार पहुंची। जहां उसने एक कहानी गढ़ी।

..

यह है पर्दाफाश करने वाली टीम

मामले का पर्दाफाश करने के लिए स्वाट के साथ सदर थाना की पुलिस लगी रही। टीम में प्रभारी स्वाट रणविजय सिंह, एसओ सदर दिनेश चंद्र चौधरी, एसआइ जयप्रकाश दुबे, विश्वमोहन राय, मुख्य आरक्षी दिनेश यादव, महिला आरक्षी रुबी दुबे, रेनू यादव, दिलीप द्विवेदी, अवनीश सिंह, गंगेश सिंह, पवन तिवारी, मृत्युजंय आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस