सिद्धार्थनगर : क्षेत्र के गोपिया गांव में आदर्श रामलीला मंडल एवं स्वतंत्र जनसेवा समिति के तत्वावधान में कलाकारों ने शबरी मिलाप, अहिल्या उद्धार एवं बालि वध आदि प्रसंगों का भावपूर्ण मंचन किया। इन प्रसंगों को देख समूचा पंडाल हर्षित हो गया।

कलाकारों ने दिखाया कि माता सीता को खोजते-खोजते राम-लक्ष्मण शबरी के आश्रम में पहुंचते हैं उन्हें देख वह भाव विभोर हो जाती हैं। स्वागत सत्कार के लिए खाने को बेर लेकर आती हैं उसे वह चख-चख कर प्रभु राम को खाने के लिए देतीं हैं। शबरी के प्रेम से अभिभूत भगवान राम बड़े स्वाद से उसे ग्रहण करते हैं। वहां से वह आगे बढ़ते हैं, रास्ते में शापित अहिल्या का उद्धार करते हुए किष्किन्धा पहुंचते हैं। जहां हनुमान वानरराज सुग्रीव से उनकी मित्रता कराते हैं और अपनी आप बीती प्रभु को बताते हैं। पापी बालि का वध कर प्रभु सुग्रीव को वहां का राजा बना देते है। इस मौके पर सुशील पांडेय, अनुराग पांडेय, ध्रुव, दिनेश, सहजराम, मनीष, सनोज, शिवकुमार, रोहित, सुनील आदि मौजूद रहे। मां दुर्गा के खुले पट, गूंजा जयकारा

सिद्धार्थनगर : खुनियांव ब्लाक अंतर्गत ग्राम बिड़रा में चल रहे दुर्गा पूजा समारोह के तहत सप्तमी के दिन मंगलवार की रात माता का पट खोला गया। जय माताजी संगठन अध्यक्ष मनोज अग्रहरि ने जैसे ही पट खोला पूरा पंडाल माता जयघोष से गूंज उठा। शाम होते ही भजन व भक्ति गीतों से भक्तिमय हो उठा। आरती में श्रद्धालुओं ने प्रतिभाग किया। पंडित प्रेम नारायण मिश्रा ने दुर्गा माता की शक्तियों पर प्रकाश डाला। छोटे लाल अग्रहरि, मालती देवी, कौशल अग्रहरि, आकाश मिश्र, राम किशुन, मोहन मिश्र, राजन, अंकिता, कविता, काजोल, प्रज्ञा, पीहू आदि उपस्थित रहे। छोटे बच्चों की प्रस्तुति देख दर्शक मंत्रमुग्ध

आदर्श युवा संगठन कठेला बाजार के तत्वावधान बिशुनपुर में मां दुर्गा पूजा समारोह में छोटे-छोटे बच्चों ने माता से जुड़ी सुंदर झांकी प्रस्तुत की। जिसको देखकर दर्शक मंत्रमुग्ध हो उठे। मां वैष्णो देवी, बाबा भैरव नाथ, श्रीकृष्ण-सुदामा, शिव तांडव के प्रसंग का मंचन भी किया गया। जिसे देख पंडाल में मौजूद दर्शक भाव-विभोर हो उठे। कार्यक्रम में लाखू प्रसाद, पिटू, रवीन्द्र कुमार, दीपू कमलापुरी, अमित मोदनवाल, विकास वर्मा, सुनील वर्मा, अनिल मोदनवाल आदि उपस्थित रहे।

Edited By: Jagran