सिद्धार्थनगर : गुरुद्वारा कमेटी सांप्रदायिक सौहार्द के लिए विशेष पहल करने जा रही है। अनलॉक-1 में आठ जून से जब धार्मिक स्थल खोले जाएंगे तो गुरुद्वारा कमेटी के सेवादार नगर के सभी मंदिर, मस्जिद व गिरजाघर को सैनिटाइज करेंगे। कमेटी ने प्रशासन से अनुमति मांगी है। कमेटी के पदाधिकारियों ने बताया कि परिसर की सफाई की जाएगी और पूरे परिसर को सैनिटाइज किया जाएगा।

लॉकडाउन के दौरान सेवादार निस्वार्थ भाव से समाजसेवा में लगे रहे। ढाई माह तक लंगर चलाया। निराश्रित व लॉकडाउन में फंसे लोगों को दोनों वक्त के भोजन की व्यवस्था किया था। नगर के पुरानी सब्जी मंडी स्थित गुरुद्वारा में इनके रसोईघर का चूल्हा किसी भी दिन बंद नहीं हुआ। ईद में ऐसे परिवार को चिह्नित करके उनकी सहायता किया। बच्चों को कपड़े व ईदी के रूप में सेवई पहुंचाया। अब मुख्यालय पर स्थित मंदिर व मस्जिद की सफाई और सैनिटाइज करने की पहल की है। सभी धार्मिक स्थलों के प्रबंधकों से मुलाकात करके अपनी मंशा बता रहे हैं।

नगर में सिंहेश्वरी मंदिर के साथ रामजानकी, हनुमान गढ़ी व बेलहिया माता मंदिर हैं। पुरानी नौगढ़ में शिव मंदिर व संकटमोचन मंदिर है। यहां बड़ी संख्या में श्रद्धालु दर्शन करने के लिए आते हैं। जामा मस्जिद के साथ आजाद नगर, बद्र स्कूल, खैर स्कूल, हुसैनगंज, रमजान नगर स्थित मस्जिद में लोग इबादत करने के लिए जाते हैं। इसके अलावा एक-एक गुरुद्वारा व चर्च है।

गुरुद्वारा कमेटी के अध्यक्ष तजिदर सिंह ड्यूक ने कहा है कि धार्मिक स्थलों को खोलने की अनुमति प्रदान की गई है। कोरोना से बचाव के लिए सभी स्थलों की सफाई व सैनिटाइज करने के लिए कहा गया है। गुरुद्वारा कमेटी ने निर्णय लिया है कि इनकी सफाई करने के लिए सेवादार जाएंगे। यहां श्रद्धालुओं के हाथ धुलने के लिए साबुन की व्यवस्था गुरुद्वारा कमेटी करेगी।

जिलाधिकारी दीपक मीणा ने कहा है कि जल्द ही धार्मिक स्थलों को आम लोगों के लिए खोल दिया जाएगा। यहां श्रद्धालु पूजा-पाठ करने के साथ इबादत कर सकेंगे। कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर दिशानिर्देश जारी किए गए हैं। उनका अनुपालन करना आवश्यक है। गुरुद्वारा कमेटी ने धार्मिक स्थलों की साफ-सफाई कराने की इच्छा जाहिर की है। यह सराहनीय पहल है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस