सिद्धार्थनगर : पीएम के आगमन को लेकर सुरक्षा व्यवस्था व्यवस्था एसपीजी ने संभाल लिया है। वहां से मिले निर्देश के तहत कार्यक्रम स्थल से लेकर हेलीपैड तक की निगरानी एसपीजी के हाथों पहुंच गई है। पीएम ड्यूटी में लगे एलआइयू व पुलिसकर्मियों के साथ पैरा मिलिट्री के जवानों को अपने पास मोबाइल रखने की छूट नहीं रहेगी। जवानों के पास मौजूद मोबाइल को एक स्थान पीएम के आने के पूर्व ही जमा करा लिया जाएगा। इसके बाद इसकी चेकिग होगी। पीएम के जाने के बाद इसे संबंधित जवान को वापस किया जाएगा। जनसभा में आने वाले लोग सघन तलाशी के बाद अंदर जा सकेंगे। बार्डर पर आने-जाने वालों की जांच पड़ताल तेज कर दी गई है।

पीएम के आने के पूर्व एसपीजी के जवान जनपद में आ चुके हैं। उन्होंने हेलीपैड से लेकर कार्यक्रम स्थल तक को अपने कब्जे में ले लिया है। सुरक्षा के सभी पहलुओं की जांच की जा रही है। जनसभा स्थल पर आने वाले सभी लोगों को सघन जांच से होकर गुजरना पड़ेगा। बिना जांच के कोई भी कार्यक्रम स्थल पर नहीं जा सकेगा। एएसपी सुरेश चंद्र रावत ने बताया कि मिले निर्देश के तहत पुलिसकर्मियों की ड्यूटी लगाई गई है। बार्डर की निगरानी बढ़ाने का निर्देश दिया गया है।

चार हजार पुलिसकर्मियों की रहेगी ड्यूटी

पीएम की सुरक्षा में एसपीजी, आतंक निरोधक दस्ता, केंद्रीय सुरक्षा बल के अलावा चार हजार पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई है। साड़ी तिराहे से लेकर हाइडिल तिराहा तक सड़क की पटरियों पर इनकी ड्यूटी लगाई गई है। सभी आने- जाने वालों पर निगाह रखेंगे।

बार्डर पर बढ़ी चौकसी

पीएम के आगमन को देखते हुए नेपाल सीमा पर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। सभी आने- जाने वाले वाहनों की तलाशी ली जा रही है। नाम- पता के साथ मोबाइल नंबर उपलब्ध कराने पर ही इनको यात्रा की छूट मिल रही है। ककरहवा, अलीगढ़वा, बढ़नी, खुनुवा, हरिबंशपुर आदि स्थानों पर एसएसबी एवं पुलिस के जवान हर संदिग्ध पर निगाह लगाए हुए हैं।

Edited By: Jagran