सिद्धार्थनगर : सांसद जगदंबिका पाल ने शनिवार को भीमापार में सड़क का शिलान्यास किया। इस ग्रामीण सड़क का निर्माण ग्रामीण अभियंत्रण विभाग कराएगा। यह रोड भीमापार रेलवे क्रासिग से केसारी होते हुए कोड़राग्रांट तक जाएगी।

सांसद ने कहा कि कोड़राग्रांट के लोगों को मुख्यालय आने में दुश्वारियां झेलनी पड़ती थी। इसके निर्माण के लिए प्रधानमंत्री सड़क योजना में प्रस्ताव भेजा था। जल्द ही समयसीमा के भीतर इसका निर्माण कार्य पूरा कराया जाएगा। सड़क बनने से यहां से चिल्हिया का सफर आसान हो जाएगा। दूरी भी कम हो जाएगी। यहां के लोगों का सदैव स्नेह मिलता रहता है। इस कसौटी पर खरा उतरने का प्रयास किया जा रहा है। मंडल अध्यक्ष अर्चिष्मान मिश्रा, शैलेंद्र वर्मा, सांसद प्रतिनिधि एसपी अग्रवाल, ब्लाक प्रमुख प्रतिनिधि राजेश मिश्रा, पूर्व ब्लाक प्रमुख राजू सिंह, देवेंद्र मिश्रा, गंगा मिश्रा, फतेहबहादुर सिंह, जिला मीडिया प्रभारी आशीष शुक्ला, राजेश जायसवाल, अरविद पांडेय, ओमप्रकाश यादव, अजय राय, जहीर सिद्दीकी, बलविदर सिंह, मनोज कुमार, सोनू प्रसाद, बबलू श्रीवास्तव, सोनू श्रीवास्तव, नागेंद्र विश्वकर्मा आदि मौजूद रहे। सड़कों पर अतिक्रमण से राह चलना दुश्वार सिद्धार्थनगर : नगर पंचायत प्रशासन की उदासीनता के कारण नगर के बाजार व सड़कों पर अंतिक्रमणकारियों का बोलबाला है। नगर पंचायत का अतिक्रमण हटाओ अभियान अभी तक लोगों को सूचना देने तक सिमट कर रह गया है। मुख्य बाजार में तो ऐसी कोई भी गली नहीं है कि जहां दुकानदारों, रेहड़ी पटरी वालों ने अतिक्रमण नहीं कर रखा हो। बाजार के अधिकांश दुकानों के सामने तख्त व रेहड़ी आदि लगती है। बैंक व थाना मार्ग पर तो ऐसा लगता है कि शायद यहां लोगों ने अतिक्रमण करने की प्रतियोगिता चलाई हुई हो। प्राथमिक विद्यालय उसका बा•ार प्रथम व द्वितीय के सामने अतिक्रमण से बच्चों की सुरक्षा पर खतरा बना रहता है। थाना के पीछे से जाने वाले मार्ग के शुरुआती भाग पर अतिक्रमण के कारण वाहनों का आना-जाना दूभर है। नगर के सब्जी बाजार, मुख्य बाजार, स्टेट बैंक के निकट, बाबा हरिदास इंटर कालेज मार्ग , रेलवे स्टेशन मार्ग के दोनों तरफ अतिक्रमण किया हुआ है।

अधिशासी अधिकारी , नगर पंचायत उसका बाजार जितेंद्र सिंह यादव ने बताया कि नगर में अतिक्रमण के मामले में समय-समय पर अतिक्रमण हटाओ अभियान चलाया जाता है। अगर कोई दुकानदार अपनी दुकान के सामने तख्त आदि लगाकर अतिक्रमण कर रहा है तो उसके खिलाफ पालिका एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कराया जाएगा। पूरे नगर क्षेत्र में अतिक्रमण हटाने के लिए चेतावनी दी गयी है। तीन दिन के अंदर अतिक्रमण नहीं हटा तो संबंधित के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

Edited By: Jagran