सिद्धार्थनगर: अपने ग्राम सभा में बेहतर काम करने वाले ग्राम प्रधान दीन दयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तिकरण पुरस्कार, नानाजी देशमुख राष्ट्रीय गौरव ग्राम सभा पुरस्कार, ग्राम पंचायत विकास योजना पुरस्कार एवं बाल मैत्री ग्राम पंचायत पुरस्कार से नवाजे जाएंगे। शासन ने इसके लिए गाइड लाइन तय कर दी है। 24 अप्रैल 2020 को राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस के अवसर पर उन्हें यह सम्मान मिलेगा। इसके लिए 31 जनवरी तक आन लाइन आवेदन मांगे गए हैं।

पंचायती राज मंत्री भूपेंद्र सिंह चौधरी की तरफ से जिला पंचायत अध्यक्ष, ब्लाक प्रमुख और समस्त ग्राम प्रधानों को संबोधित पत्र भेजे गए हैं। पत्र में कहा गया है कि जिला पंचायत, क्षेत्र पंचायत एवं ग्राम पंचायतों को उक्त चारों पुरस्कार पाने का अवसर प्रदान किया गया है। इस पुरस्कार की पात्र वे पंचायतें होंगी, जिनके द्वारा वित्तीय वर्ष 2018-19 में अपनी पंचायतों के उत्थान हेतु विभिन्न क्षेत्रों जैसे-स्वच्छता, शिक्षा, ग्राम पंचायत की कार्य प्रणाली, सामाजिक व आर्थिक क्षेत्र में प्रदर्शन और बाल हितों के संरक्षण में बेहतर योगदान दिये हैं। चयन प्रक्रिया को त्रिस्तरीय पंचायत स्तर तक अधिक प्रभावी बनाने एवं इस योजना के अधिकतम प्रचार-प्रसार एवं अधिकाधिक पंचायतों के नामांकन हेतु सरकार के वेब पोर्टल पर आवेदन मांगे गए हैं। मंत्री ने पत्र में यह भी कहा है कि उत्कृष्ठ कार्यों के आधार पर प्रदेश की पंचायतों में निर्धारित प्रश्नावली के आधार पर सर्वोत्कृष्ट अंक प्राप्त करने वाली त्रिस्तरीय पंचायतों का चयन किया जाएगा। विभाग के प्रमुख सचिव अनिता सिंह ने भी इस संबंध में जिलाधिकारी, सीडीओ, जिला पंचायत राज अधिकारी और जिला पंचायत के अपर मुख्य अधिकारी को पत्र लिखा है।

.........

ऐसे होगा चयन

ग्राम पंचायत, क्षेत्र पंचायत और जिला पंचायत की ओर से प्रेषित आन लाइन आवेदन के पत्रावलियों को कमेटी द्वारा चेक किया जाएगा। स्थानीय स्तर पर कमेटी के अग्रसारित करने के बाद अपर निदेशक, एक प्रशासनिक अधिकारी, दो कन्सलटेंट चयन कमेटी में बैठेंगे। प्रदेश में सर्वोत्तम अंक प्राप्त करने वाली छह जिला पंचायतें, 12 क्षेत्र पंचायतें और 90 ग्राम पंचायतों की सूची तैयार की जाएगी।

.........

जिले को मिल चुके हैं पुरस्कार

सिद्धार्थनगर जनपद के दो गांव सुगही और हसुडी औसानपुर को पिछले वर्ष पुरस्कृत किया गया था। हुसनी औसानपुर के ग्राम प्रधान दिलीप त्रिपाठी को लगातार दो वर्ष दीन दयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तिकरण पुरस्कार और नानाजी देखमुख राष्ट्रीय गौरव ग्राम सभा पुरस्कार मिल चुका है।

..........

ग्राम पंचायतों को आन लाइन आवेदन के लिए पासवर्ड दिए गए हैं। इस योजना में बेहतर काम करने वाले ग्राम प्रधान आन लाइन आवेदन कर सकते हैं। सभी जरूरी पत्रावलियां आन लाइन ही अटैच की जाएंगी। कार्य और समाज में योगदान के अनुसार जिलाधिकारी के नेतृत्व में एक कमेटी तय करेगी कि कौन ग्राम सभा पुरस्कार के लिए योग्य है।

अनिल कुमार सिंह

जिला पंचायत राज अधिकारी

सिद्धार्थनगर

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस