सिद्धार्थनगर : खुनियांव ब्लाक अंतर्गत ग्राम पंचायत सेमरी के बभनी गांव में राष्ट्रीय आजीविका मिशन अंतर्गत आयोजित गोष्ठी में समूह सदस्यों को न सिर्फ स्वयं की जमीन पर पाली हाउस निर्माण के प्रेरित किया गया, बल्कि स्वावलंबन की दिशा में विभिन्न क्षेत्रों में कैसे लाभ कमाएं इसके बारे में भी टिप्स दिए गए। प्रगति किसान अतुल वर्मा के पाली का भी भ्रमण कराया और तरह-तरह के फूलों की खेती कैसे की जाए, इसके प्रति जागरूक किया गया।

खंड विकास अधिकारी सतीश कुमार पाण्डेय ने कहा कि अगर कुछ करने की ललक है तो कोई काम मुश्किल नहीं होता है। इसका उदाहरण अतुल वर्मा हैं, जिनका पाली हाउस एक उदाहरण बना हुआ है। जरवेरा, गेंदा फूल की खेती कैसे की जाए, समूह की दीदी इनके प्रेरणा ले सकती हैं। फूलों की खेती से कैसे लाखों कमाया जा सकता है, ये भी प्रगतिशील किसान ने साबित करके दिखा दिया है। अतुल वर्मा ने समूह की महिलाओं को जरबेरा फूल की खेती कैसे की जाती है, उसका बाजार कहां पर है इसके बारे में बताते हुए उनको आय संचय करने के तरीके भी बताए।

कृषि विज्ञान केंद्र सोहना के वरिष्ठ कृषि विज्ञानी डा. डीपी सिंह ने उनकी आजीविका को लेकर महिलाएं कैसे लाभ कमाएं, इस पर केले की चिप्स बनाने के बारे में बताया। डा. प्रदीप कुमार ने महिलाओं के आजीविका एवं व्यवसाय को लेकर जैविक कीटनाशक वह ढिगरी मशरूम के बारे में विस्तृत जानकारी दी। डा. एस एन सिंह ने जैविक खेती पर जोर दे कर अपने सब्जियों को बाजार में अच्छे मूल्य पर कैसे बेचें, इसके बारे में बताया। रमावती, प्रभावती, फूलमती, मांती, आरती, महरून, मंजू, रामसती, सत्यवती, अकेली, नोहरा देवी, परानपती, ऊषा, नीलम, सुनीता आदि समूह सदस्य उपस्थित रहीं। पूर्व प्रधान के खिलाफ ग्रामीणों का प्रदर्शन सिद्धार्थनगर : सदर तहसील के ग्राम पंचायत महुलानी के ग्रामीणों ने कलेक्ट्रेट परिसर में धरना प्रदर्शन किया। गांव के पूर्व प्रधान पर ग्रामीणों के साथ मारपीट व अभद्रता करने का आरोप लगाया। जिलाधिकारी दीपक मीणा को ज्ञापन सौंपा कार्रवाई करने की मांग की।

ग्राम प्रधान शिवस्वरूप पांडेय ने आरोप लगाया कि पूर्व प्रधान गांव में विवाद उत्पन्न कर रहे हैं। यह अपने समर्थकों के साथ शनिवार को चहारदीवारी लांघकर घर में घुस गए। अपशब्द बोलने के साथ मारपीट करने का प्रयास किया। फर्जी मुकदमा में फंसाने की धमकी दी। एक माह पूर्व गांव के परिषदीय विद्यालय की बाउंड्रीवाल निर्माण कार्य के समय भी इन्होंने विवाद उत्पन्न किया, जिससे काम रुक गया है। इसकी शिकायत आनलाइन पोर्टल पर मुख्यमंत्री समेत अधिकारियों से की गई है। कृपाशंकर पांडेय, चंद्रप्रकाश, दयाशंकर, मलखान, बेचन, कमलेश, गिरीश, गयादीन, व्यासमुनी मिश्र, गोविद अग्रहरि, परमानंद पांडेय आदि मौजूद रहे।

Edited By: Jagran